Now Reading
कोविड-19: अब जिला कोर्ट में सुनवाई में शामिल नहीं हो सकेंगे पक्षकार, प्रवेश बंद

कोविड-19: अब जिला कोर्ट में सुनवाई में शामिल नहीं हो सकेंगे पक्षकार, प्रवेश बंद

ग्वालियर।

ग्वालियर. देश में तीसरी लहर के चलते अब न्यायालयों में भी सुनवाई के समय होने वाली भीड़ को कम किया जा रहा है। जिला एव सत्र न्यायायलों में जिन केस की सुनवाई चल रही है अब उन मामलों की सुनवाई के दौरान केवल अधिवक्ता ही शामिल हो सकेंगे।
कोविड-19 के संक्रमण को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है।कोर्ट में पक्षकारों का प्रवेश प्रतिबंधित रहने से कोर्ट परिसर में कम लोग ही प्रवेश कर सकेंगे। वही केवल उन्हीं केसो में गवाही हो सकेगी, जिन्हें हाई कोर्ट ने सुनवाई के लिए कहा है। अन्य सभी केसों में अब गवाही भी नहीं हो सकेगी। ऐसे में में किसी व्यक्ति की कोर्ट में हाजिर होने की अनिवार्यता के साथ ही अनुमति मिलने पर ही प्रवेश दिया जाएगा।वही केस की सुनवाई के दौरान यदि पक्षकार का अधिवक्ता उपस्थित होता है, उसके आधार पर ही पक्षकार की उपस्थिति मानी जाएगी। प्रदेश में कोर्ट वर्चुअल और फिजिकल आधार पर संचालित हो रहे हैं। ग्वालियर जिला एवं सत्र न्यायालय में कोरोना संक्रमण की जांच के लिए सैंपलिंग की गई थी।

कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट आने पर पता चला कि 30 से अधिक लोग पॉजीटिव पाए गए। इतनी बड़ी संख्या में मरीजों के निकले के बाद कोर्ट में संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ गया था। इसी के चलते हाई कोर्ट बार एसोसिएशन ने जिला न्यायालय में भीड़ कम करने की मांग की थी।

मध्यप्रदेश में कोरोना का कहर जारी है. प्रदेश में गुरुवार को 4034 नए मरीज मिले हैं. 3 कोरोना संक्रमितों की मौत भी हुई है. नए मरीजों में भोपाल में 1008 कोरोना संक्रमित मिले हैं. कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या 3964 हो गई है. इधर कोरोना के कारण कर्मचारियों की आफत बढ़ गई है. प्रदेश सरकार ने स्वास्थ्य कर्मचारियों की छुट्टी पर रोक लगा दी है.

View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll To Top