Now Reading
मध्य प्रदेश में 1500 मेगावाट के सोलर पार्कों का शिलान्यास, सीएम शिवराज ने कहा, बिजली बचाएं

मध्य प्रदेश में 1500 मेगावाट के सोलर पार्कों का शिलान्यास, सीएम शिवराज ने कहा, बिजली बचाएं

शाजापुर। सीएम शिवराज सिंह चौहान और केंद्रीय मंत्री आरके सिंह ने 1500 मेगावाट के आगर, शाजापुर और नीमच सोलर पार्कों का भूमिपूजन एवं ऊर्जा साक्षरता अभियान (ऊषा) का शुभारंभ दीप प्रज्जवलन कर किया। समारोह में बिजली खरीद और अन्य परियोजना अनुबंध पर हस्ताक्षर एवं दस्तावेज आदान-प्रदान किए गए। इसी समारोह में प्रदेश में उर्जा साक्षरता अभियान की शुरुआत भी अतिथियों द्वारा की गई। केंद्रीय मंत्री आरके सिंह ने कहा कि मध्य प्रदेश आज शिवराज सिंह के नेतृत्व विकास कर रहा है। भाजपा की सरकार ने मध्य प्रदेश के साथ देश में भी ऊर्जा के क्षेत्र मे उन्नति की है। पूरे भारत में 7 वर्ष में 1 लाख 58 हजार मेगावाट बढ़ाया है। हमारी सरकार द्वारा पूरे देश 1 लाख 59 हजार ग्रिड बनाया है। ऊर्जा को देश के हर कोने में पहुच रही है। 987 दिन में हमने हर जिले, गांव में बिजली पहुंचा दी है। बिजली के दाम लगातार कम हो रहा है। सौर ऊर्जा शून्य प्रदूषण वाली ऊर्जा है। 150 लाख मेगावाट रिन्यूअल एनर्जी का कार्य देश में लग चुका है। भाजपा की सरकार में देश अग्रणी है।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कार्यक्रम में संबोधित करते हुए कहा कि 2030 तक भारत 50% बिजली नवकरणीय ऊर्जा के माध्यम से बनाएगा। 21 हजार करोड़ रुपये से लोगों को प्रदेश में सस्ती बिजली दी जा रही है। सीएम ने ऊर्जा साक्षरता अभियान को लेकर अनावश्यक रूप से बिजली का उपयोग नहीं करने के लिए सलाह दी। जितनी जरूरी हो उतनी बिजली जलाएं लेकिन फालतू बिजली ना जले इसका इंतजाम करो। मैं खुद सीएम हाउस में एक भी बल्ब फालतू नहीं चलने देता कई बार मैं खुद बिजली का बल्ब बुझाता हूं। जहां पर आकर्षक रोशनी हो वहां भी बिजली का उपयोग करने से बचे। ऐसा करने से हम प्रदेश में 10-11 या 5-7 हजार करोड़ रुपये बचा सकते हैं। उन्होंने एलइडी बल्ब उपयोग करने की सलाह दी। सीएम ने कहा कि मैं खुद भी बिजली बचाऊंगा और आप सब से भी अपील करता हूं कि बिजली बचाएं और बिजली बचाने का संकल्प लें।

केंद्रीय मंत्री की सुरक्षा में बड़ी चूक

हेलीपैड पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री आरके सिंह की सुरक्षा में चूक का मामला सामने आया है। मुख्यमंत्री, केंद्रीय मंत्री के आगमन के दौरान सुरक्षा के लिये लगाए गए बेरिकेड्स गिर गए। जिससे यहां अव्यबस्था की स्थिति बनी। बेरिकेड्स गिरने से हेलीपैड में प्रवेश करने वाले लोगों की चैकिंग के लिए लगाया गया। डीएफएमडी (चेकिंग द्वार) भी गिर गया था। ऐसे में कई लोग बिना चेकिंग के ही हेलीपैड के अंदर घुस गए। मुख्यमंत्री व केंद्रीय मंत्री के हेलीपेड से रवाना होने के बाद यहां तैनात सुरक्षा बलों ने गिरे हुए बेरिकेड्स दोबारा सही खड़े किए और डीएफएमडी गेट भी खड़ा किया।

View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll To Top