Now Reading
रातों- रात युवाओं की धड़कन बन गया अनिरुद्ध कौशल का “सच मानूं या फरेब” सॉन्ग

रातों- रात युवाओं की धड़कन बन गया अनिरुद्ध कौशल का “सच मानूं या फरेब” सॉन्ग

नवोदित गायक अनिरुद्ध कौशल के गीत ने इन दिनों सोशल मीडिया पर जबरदस्त धूम मचा रखी है । ज़ी म्यूजिक द्वारा यूट्यूब पर रिलीज किये गए वीडियो सांग
“सच मानूं या फरेब” खासकर युवा सांग लवर्स के बीच काफी लोकप्रिय होता जा रहा है। खास बात ये है कि यह गीत लिखा भी अनिरुद्ध ने है और फिल्माया भी उन्ही पर गया है ।
मोहाली के रहने वाले अनिरुद्ध कौशल का कहना है कि
मुझे बचपन से ही संगीत में गहरी दिलचस्पी थी, मैं 5 साल की उम्र में तबला और हारमोनियम बजाता था और यहाँ तक कि प्रतिष्ठित हरबल्लभ प्रतियोगिता में भाग लेता था जो एक वार्षिक प्रतियोगिता  थी । जब बड़ा हुआ तो जालंधर में भी परफॉर्म किया
इंडिया शाम तक से खास चर्चा में श्री कौशल ने बताया कि  मेरे पिता संगीत के भी अच्छे श्रोता हैं और कभी-कभी गाते भी हैं। उनके साथ मैं महान जगजीत सिंह जी की ग़ज़लें भी सुनता था और यहीं से मैंने एक शौक के रूप में गाना शुरू किया। जब  11 वीं कक्षा में था जब मेरे कुछ दोस्तों ने मुझे बताया कि मैं अच्छा गाता हूं, इसलिए मैंने स्कूल में प्रदर्शन करना शुरू कर दिया, जिसके लिए मुझे बहुत सराहना और प्रोत्साहन मिला। फिर मैं 12 वीं कक्षा में अपने स्कूल प्ले … मम्मा मिया ’में मुख्य गायक बन गया और यहीं पर मुझे एहसास हुआ कि मुझे वास्तव में ऐसा करने में मज़ा आता है।  मैंने फिर इसी पर ध्यान देना शुरू किया।मैंने अपनी स्कूली शिक्षा पूरी करने के बाद अपने गुरु श्री विजय (अलाप) के अधीन व्यावसायिक प्रशिक्षण लेना शुरू किया। इसके बाद मैंने अपने यूट्यूब चैनल पर अनुभव  हासिल करने के लिए कुछ कवर गाने जारी किए।
वे बताते हैं कि ‘सच मनु ये फरेब’ मेरा पहला एकल है जिसे मैंने नवंबर 2019 में लिखा था और जिसके लिए संगीत श्री विपिन पटवा ने दिया था। गीत का ऑडियो फरवरी 2020 में तैयार हो गया और मैं अपने पिता के साथ गीत की रिकॉर्डिंग के लिए श्री विपिन पटवा से मिलने मुंबई गया। गीत रिकॉर्ड करने के कुछ समय बाद, लॉकडाउन हुआ और सब कुछ रुका हुआ था। यह केवल तब हुआ जब सरकार ने महामारी के लिए नियमों और विनियमों में ढील दी, क्या हम इस गीत के लिए वीडियो शूट कर पाए, जो श्री रेटेश नारायण ने किया था।
श्री कौशल के मुताबिक विपिन सर का रवैया काफी सहायक था । उनके निर्देशन में बहुत सहजता थी
। उन्होंने  गीत को खूबसूरती से व्यवस्थित किया और इसमें एक उदास रोमांटिक खिंचाव को भावोत्पादक बनाया ।  खुशी की बात है दर्शक इसे पसंद कर रहे और अच्छे रिमार्क दे रहे है । इसकी हकदार पूरी टीम है।
View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll To Top