Now Reading
इंदौर अनलॉक:125 दिन बाद फिर से लौटी राजबाड़ा, सराफा की रौनक

इंदौर अनलॉक:125 दिन बाद फिर से लौटी राजबाड़ा, सराफा की रौनक

लॉकडाउन लगने पर 24 मार्च को बंद हुए मध्य क्षेत्र के बाजार करीब 125 दिन बाद पूरी तरह खुल गए। गुरुवार सुबह से ही दुकानों के शटर क्या उठे, ग्राहकों ने भी सुबह-सुबह खरीदारी के लिए बाजार का रुख किया। कलेक्टर मनीष सिंह ने बुधवार को शर्तों के साथ आदेश जारी कर 56 दुकान से भी इन पांच दिनों के लिए टेक-अवे सुविधा शुरू करने की छूट दे दी, लेकिन लोग वहां रुक नहीं सकेंगे। 4 अगस्त के बाद 56 दुकान से फिर होम डिलीवरी शुरू हो जाएगी। पांच दिन के लिए पूरा बाजार अनलॉक होने पर व्यापारियों के चेहरे खिल उठे। उन्होंने कहा कि रविवार को और बाजार खोल दें, पूरे तीन महीने की ग्राहकी की भरपाई हो जाएगी। भले ही फिर अगले दिन बंद कर दें। व्यापारियों ने रक्षाबंधन को देखते हुए इस रविवार लॉकडाउन से रियायत मांगी है।

कलेक्टर सिंह के मुताबिक, राजबाड़ा, सराफा, आड़ा बाजार समेत सभी मध्य बाजार 30 जुलाई से 4 अगस्त तक सुबह 7 से रात 8 बजे तक खुलेंगे। इसके बाद फिर लेफ्ट-राइट सिस्टम शुरू हो जाएगा। रविवार 2 अगस्त को पूरा शहर बंद रहेगा। उस दिन केवल राखी डिलीवरी के लिए कोरियर और पोस्ट ऑफिस कर्मियों को छूट मिलेगी। जो बाजार खुल रहे हैं, उनमें व्यापारियों, ग्राहकों के लिए मास्क अनिवार्य होगा। दुकानों पर भीड़ भी नहीं लगाई जा सकेगी।मध्य क्षेत्र के बाजार खुलने से उत्साहित व्यापारियों ने प्रशासन से रविवार की और रियायत मांगी है। व्यापारियों का कहना है कि हर त्योहार के ठीक पहले वाला दिन सबसे अधिक ग्राहकी का होता है, उस दिन बाजार बंद रहने से शनिवार और सोमवार को भारी भीड़ उमड़ेगी और अपेक्षित ग्राहकी भी नहीं मिल सकेगी। अगर प्रशासन 2 अगस्त के रविवार को राहत देता है तो वे 5 अगस्त के बाद किसी भी दिन दुकानें बंद करने को तैयार हैं।मिठाई और नमकीन कारोबारी के मुताबिक, कलेक्टर ने मध्य क्षेत्र को खोलकर सही निर्णय किया, पर अगर वे रविवार का दिन व्यापारियों को और दें तो बाजार को बहुत लाभ मिलेगा। वैसे भी त्योहारी खरीदारी रविवार को ही ज्यादा होती है। बाजार के लिए दिवाली के बाद ये दूसरा बड़ा त्योहार है। तीन महीने दुकानें बंद रहने के बाद राखी ठीक से मन गई तो ठेले वाले से लेकर शोरूम वाले तक को ऑक्सीजन मिल जाएगी।

View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll To Top