Now Reading
कोरोना का भय :एक सप्ताह का लगेगा कर्फ्यू लॉक डाउन

कोरोना का भय :एक सप्ताह का लगेगा कर्फ्यू लॉक डाउन

लॉक डाउन खुलने के बाद जिले में कोरोना की हालत भयावह होती जा रही है । संक्रमण बस्ती-बस्ती में अपने पांव पसार चुका है । अब तो उपचार के लिए अस्पताल भी कम पड़ने लगे है । हताश और निराश जिला प्रशासन अब एक बार फिर कठोर कदम उठाने के मूड में है । यानी एक सप्ताह का कड़ा लॉक डाउन ।

ग्वालियर जिले के कोरोना क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की आज कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने आज एक बैठक बुलाई और जिले में कोरोना संक्रमण की समीक्षा की । बैठक में सभी ने माना कि अनलॉक होने के बाद कोरोना का संक्रमण तेज़ी से फैला है । मरीजों की संख्या विस्फोटक ढंग से बढ़ती जा रही है । बाज़ार खुलने के बाद लोग कोई भी एहतियात बरतने को तैयार नही है । बाजारों में।लोग भीड़ के साथ घूम रहे है और मास्क भी नही लगा रहे । इसलिए अब कड़े कदम उठाना जरूरी है।

सूत्रों की माने तो बैठक में तय हुआ कि अब एक सप्ताह का कड़ा लॉक डाउन होगा । इसका अमल कर्फ्यू की तरह किया जाएगा । लोगों की आबाजाही बन्द रहेगी । केवल सुबह दूध सब्जी जैसी दुकाने कुछ घण्टे के लिए खुलेंगी और चुनिंदा मेडिकल स्टोर्स और पेट्रोल पंप ।

फेक्ट्री कौन सी खुलेगी- 

बैठक में तय हुआ कि फेक्ट्री वही खुल सकेंगी जिनकी अपनी औद्योगिक इकाई में श्रमिकों को सात दिन रुकने की व्यवस्था होगी क्योंकि किसी को भी परिवहन की इजाज़त नही दी जाएगी ।

पहले समय देंगे 

इस बार तत्काल प्रभाव से लॉक डाउन नही किया जाएगा बल्कि लोगो को एक दो दिन का समय दिया जाएगा ताकि वे अपने जरूरी काम निपटा ले और राशन आदि जरूरी चीजों की व्यवस्था कर सकें ।

चेम्बर ने कहा 

चेम्बर ऑफ कॉमर्स के मानसेवी सचिव डॉ प्रवीण अग्रवाल बाजार बंद कराने के निर्णय से अक्षम दिखे । उंन्होने कहाकि स्वयं सीएम साहब कह चुके है कि बाजार बंद होना कोरोना का कोई इलाज नही है । डॉ अग्रवाल ने कहाकि जब तक बाहर से आने वालों के घुसने पर कोई कठोर पावंदी की व्यवस्था नही होगी तब तक लॉक डाउन के सही और कारगर नतीजे नही आएंगे । उंन्होने देर रात तक शराब की दुकान खुले रहने को गलत बताया क्योंकि यहाँ भीड़भाड़ रहती है । इस पर कलेक्टर ने कहाकि आठ दिन शराब की दुकान बंद करने का उन्हें अधिकार नही है लेकिन इसको लेकर सरकार से बात करेंगे ।

जबरदस्त कोरोना विस्फ़ोट

ग्वालियर के बीते कुछ रोज से लगातार कोरोना विस्फोट हो रहा है । बढ़ते कोरोना संक्रमण ने प्रशासन द्वारा की गई सभी व्यवस्थाओं को ध्वस्त कर दिया है । आंकड़े बताते है कि मार्च से लेकर जून तक 98 द्विन मे जिले में 401 मरीज कोरोना संक्रमित निकले थे लेकिन जुलाई के 12 दिनों में ही 641 मरीज मिल गए । कल रविवार को एक दिन में रिकॉर्ड 111 कोरोना संक्रमित मिले तो इन्हें भर्ती करने के लिए जगह ही नही बची । इस तरह ग्वालियर इंदौर और बजोपाल के बाद तीसरा संक्रमित शहर बन गया । सबसे चिंता की बात यह है कि एक दिन में दस फीसदी से ज्यादा सेंपल पोजिटिब पाए गए ।

पहले भोपाल से लेंगे इजाज़त

कलेक्टर की अध्यक्षता में हुई क्राइसिस मैनेजमेंट समिति की बैठक में सात दिन के टोटल लॉक डाउन के प्रस्ताव को पहले भोपाल भेजकर स्वीकृति ली जाएगी उसके बाद घोषणा की जाएगी कि यह कब से कब तक रहेगा?

View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll To Top