Now Reading
चीन सीमा पर शहीद सुनील राय का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार

चीन सीमा पर शहीद सुनील राय का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार

सारण। सीमा पर चीनी सैनिकों के साथ झड़प में बिहार के छपरा का सपूत शहीद हो गया। शहादत के बाद शहीद का शव जब गांव पहुंचा तो पूरा गांव उसकी शहादत को नमन करने पहुंच गया। परसा थाना क्षेत्र के दीघड़ा गांव के रहने वाले पूर्व सैनिक सुखदेव राय के 38 वर्षीय पुत्र सुनील राय की पोस्टिंग लद्दाख में थी और सोमवार रात चीनी सैनिकों के साथ हुई झड़प में वो शहीद हो गए। उन पर कंटीले तारों से हमला किया गया है।

उनके शहीद होने की सूचना शाम करीब 5.30 बजे शहीद की पत्नी मेनका राय के मोबाइल पर सेना के अधिकारी ने दी। यह जानकारी मिलते ही परिवार में कोहराम मच गया। पति के शहीद होने की सूचना मिलने पर पत्नी वहीं पर बेहोश होकर गिर पड़ीं। इसके बाद यह खबर गांव में भी फैल गई। ग्रामीणों व जनप्रतिनिधियों की भीड़ देर शाम तक घर पर उमड़ पड़ी।

आज जब उनका शव घर पहुंचा तो पूरा गांव उमड़ पड़ा। शहीद जिंदाबाद के नारों के बीच पूरे सैन्य सम्मान के साथ शहीद सुनील का अंतिम संस्कार किया गया। शहीद सुनील राय के पिता सुखदेव राय भी थल सेना से रिटायर हैं और अभी बंगाल में दूसरी नौकरी कर रहे हैं। शहीद की एक पुत्री तीन वर्षीय रोशनी मां को रोती देख उनसे लिपट कर रो रही थी।

View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll To Top