Now Reading
जेएनयू में मुंबई-कोलकाता और अलीगढ़ में विरोध

जेएनयू में मुंबई-कोलकाता और अलीगढ़ में विरोध

नई दिल्ली. जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) में हिंसा के विरोध में सोमवार को मुंबई के गेटवे ऑफ इंडिया, कोलकाता की जाधवपुर यूनिवर्सिटी और अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में प्रदर्शन हुए। रविवार को जेएनयू में फीस बढ़ोतरी में प्रदर्शन के दौरान हिंसा हुई। नकाबपोश बदमाशों ने प्रदर्शनकारी छात्रों को डंडे और लोहे की रॉड से बुरी तरह पीटा। वे करीब 3 घंटे तक कैंपस में कोहराम मचाते रहे। हमले में छात्र संघ अध्यक्ष आइशी घोष समेत कई घायल हो गए। इस मामले में दिल्ली पुलिस ने सोमवार को स्वत: संज्ञान लेते हुए एफआईआर दर्ज की है। सोशल मीडिया और सीसीटीवी फुटेज की मदद से जांच की जा रही है। अब तक 23 घायलों को एम्स से छुट्टी मिल चुकी है।

आइशी ने एबीवीपी पर हमले का आरोप लगाया और कहा कि नकाबपोश गुंडों ने मुझे बुरी तरह पीटा। करीब 35 लोग जख्मी हो गए। जेएनयू में हिंसा के बाद भारी संख्या में पुलिसबल तैनात है। सोमवार को दिल्ली पुलिस ने जांच के लिए ज्वाइंट कमिश्नर की अगुआई में टीम गठित की। कैंपस में हिंसा का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें नकाबपोश लोग डंडे और लोहे की रॉड लेकर मारपीट करते नजर आ रहे हैं। इसी दौरान प्रदर्शनकारी यह कहते सुने जा सकते हैं कि कौन हो तुम लोग? किसे डराना चाह रहे हो?.. एबीवीपी वापस जाओ। जेएनयू के पूर्व प्रोफेसर योगेंद्र यादव के साथ भी हाथापाई हुई। जेएनयू के भीतर फंसे छात्रों ने भास्कर को बताया था कि हिंसा के बाद वे भीतर फंसे गए। काफी देर तक कैम्पस में मारपीट और शोरशराबा चलता रहा। हॉस्टल के गेट बंद कर दिए गए और नाकबपोश लोग डंडे लेकर घूमते रहे।गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली के पुलिस कमिश्नर अमूल्य पाठक से बात की। उन्होंने कहा कि इस हिंसा की वरिष्ठ अधिकारियों से जांच कराई जाए और जल्द रिपोर्ट पेश कि जाए। जो भी जरूरी कदम हो वो उठाए जाएं। मानव संसाधन मंत्रालय ने भी तत्काल जेएनयू प्रशासन से रिपोर्ट मांगी।

View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll To Top