Now Reading
शशि थरूर को साहित्य अकादमी पुरस्कार, 22 लेखकों का भी चयन

शशि थरूर को साहित्य अकादमी पुरस्कार, 22 लेखकों का भी चयन

नई दिल्ली. साहित्य अकादमी ने 23 भाषाओं में योगदान के लिए साहित्य पुरस्कारों की घोषणा कर दी है। कांग्रेस सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि थरूर को ब्रिटिश काल पर अंग्रेजी में लिखी किताब ‘एन एरा ऑफ डार्कनेस: द ब्रिटिश एम्पायर इन इंडिया’ के लिए यह पुरस्कार दिया जाएगा। इनके अलावा हिंदी के साहित्यकार नंद किशोर आचार्य, उर्दू के शाफे किदवई समेत 22 साहित्यकारों अवाॅर्ड दिया जाएगा।

23 भाषाओं के साहित्यकारों को अवॉर्ड

साहित्य अकादमी संस्था की ओर से 23 भाषाओं में योगदान के लिए अवॉर्ड की घोषणा की गई। हिंदी, अंग्रेजी, असमिया, बांग्ला, तमिल समेत 23 भाषाओं के साहित्यकारों को पुरस्कार दिया जाएगा। थरूर को अंग्रेज ें योगदान के लिए इस पुरस्कार से नवाजा जाएगा। शशि थरूर की किताब ‘एन एरा ऑफ डार्कनेस: द ब्रिटिश एम्पायर इन इंडिया’ 2016 में रिलीज हुई थी। ब्रिटने में ये किताब ‘इनग्लोरियस एम्पायर: व्हॉट द ब्रिटिश डिड टू इंडिया’ नाम से प्रकाशित हुई थी। 6 महीने में ही इस किताब की 50 हजार से अधिक कृतियां बिक गईं थी।

भारत में ब्रिटिश राज पर है थरूर की किताब

केरल के तिरुवनंतपुरम से कांग्रेस सांसद शशि थरूर की ने इस किताब में भारत में हुए ब्रिटिश राज के बारे में लिखा है। उन्होंने ब्रिटिशर पर तंज भी कसा है। 1857 क्रांति और 1919 का जलियांवाला बाग की घटना का भी किताब में जिक्र है। भारत में अंग्रजों का आना और फिर जाने पर मजबूर होने के किस्से को भी थरूर ने बताया है। थरूर अब तक 19 किताबें लिख चुके हैं।

View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll To Top