Now Reading
हरिकथा, मीलाद और शहनाई वादन से शुरू हुआ तानसेन संगीत समारोह

हरिकथा, मीलाद और शहनाई वादन से शुरू हुआ तानसेन संगीत समारोह

पं. विद्याधर व्यास को मिलेगा अलंकरण
ग्वालियर। शास्त्रीय संगीत का प्रतिष्ठापूर्ण समारोह तानसेन संगीत समारोह मंगलवार से आरंभ हो गया। सुबह 10 बजे हरिकथा, मीलाद और शहनाई वादन से समारोह की शुरूआत हुई जहंा ढोलीबुआ महाराज संतोष पुरंदरे, कामिल हजरत, मजीद खां और साथी कलाकारों द्वारा भजनों की प्रस्तुति दी गई। पांच दिवसीय समारोह में मंगलवार को हजीरा स्थित तानसेन समाधि पर शाम 7 बजे ग्वालियर घराने के प्रख्यात गायक पं. विद्याधर व्यास मुंबई को तानसेन अलंकरण से प्रदान किया जाएगा। इसके साथ ही राजा मानसिंह तोमर राष्ट्रीय सम्मान कर्नाटक के निनासम हेग्गोडु को प्रदान किया जाएगा। कार्यक्रम की मुख्य अतिथि प्रदेश की संस्कृति, चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. विजय लक्ष्मी साधौ होंगी।
समारोह में यह कलाकार करेंगे संगत
तानसेन समारोह में तबलारू अकरम खां, हितेंद्र दीक्षित, चिंतेश पाटीदार, किरण देशपांडे, रामेंद्र सिंह, मनीष खरगौनकर, अनिल मोघे, उल्लास राजहंस, मनोज पाटीदार, अनंत मसूरकर, पुंडलिक भागवत, संदीप, विकास विपट, हितेंद्र श्रीवास्तव, अंशुल प्रताप। हारमोनियमरू रचना शर्मा, जमीर हुसैन, जितेंद्र शर्मा, विवेक जैन, विवेक बंसोड, अब्दुल सलीम, सुरेश राय, पारोमिता मुखर्जी, संजीव सिन्हा। सारंगीरू कमल अहमद, अब्दुल हमीद, आबिद हुसैन, अब्दुल मंजीत खान। पखावजरू मृणाल उपाध्याय, संजय आगले, अनुजा बोरोड़े द्वारा मुख्य कलाकारों के साथ संगत की जाएगी।

View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll To Top