Now Reading
सेना की इंसास राइफल दिखाकर अमीरों को लूटने की थी साजिश

सेना की इंसास राइफल दिखाकर अमीरों को लूटने की थी साजिश

होशंगाबाद।  पचमढ़ी के सेना शिक्षा कोर से इंसास राइफल व 20 कारतूस चुराने वाले आरोपित पूर्व सैनिक हरप्रीत सिंह को सोमवार देर रात पंजाब के होशियारपुर जिले के टांडा के मियानी गांव से पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। उसके अन्य चार साथियों को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी थी। सूत्रों के मुताबिक प्रेमिका से शादी करने और 40 लाख रुपए से अधिक का कर्ज चुकाने के लिए हरप्रीत ने अपने दो अन्य साथियों के साथ मिलकर अमीरों को लूटने की साजिश रची थी।

सेना ने भगोड़ा घोषित किया था

हरप्रीत दो माह पहले रांची के रामगढ़ में पोस्टिंग के दौरान छुट्टी लेकर वह अपने गांव मियानी पहुंचा था, लेकि न उसके बाद वह ड्यूटी पर नहीं आया। सेना ने उसे भगोड़ा घोषित कर दिया था। सेना से भगोड़ा घोषित होने के बाद हरप्रीत बेरोजगार हो गया था और आर्थिक तंगी से गुजर रहा था। इसी के चलते उसने अपने गांव के ही दो साथियों के साथ मिलकर लूट की वारदात करने की योजना बनाई थी। इसके लिए उन्हें हथियार की जरूरत थी। हरप्रीत सिंह वर्ष 2017-2018 में पचमढ़ी में ट्रेनिंग ले चुका था, उसे यहां की जानकारी थी। इंसास राइफलें चुराने के लिए वह सोनू व जग्गा के साथ ही पचमढ़ी आया था।सोमवार देर रात हरप्रीत नकाब पहनकर अपने एक परिचित के घर अपना मोबाइल लेने टांडा पहुंचा था। कु छ देर बाद वह अपने परिचित के साथ ही बाइक से पुलिस चौकी तक भी गया। तभी पंजाब पुलिस को संदेह हुआ और उसका नकाब निकलवाया। नकाब निकालते ही हरप्रीत को पुलिस जवान पहचान गए। जैसे ही उसे पकड़ने की कोशिश तो उसने आरक्षकों पर हमला कर दिया।

View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll To Top