Now Reading
मातृभूमि सेवा मिशन, मध्यप्रदेश की ग्वालियर इकाई ने पैरा स्वीमर रजनी झा का सम्मान किया

मातृभूमि सेवा मिशन, मध्यप्रदेश की ग्वालियर इकाई ने पैरा स्वीमर रजनी झा का सम्मान किया

ग्वालियर। दिव्यांगता अभिशाप नहीं है। भगवान ने उन्हें विशेष बनाकर दिव्य शक्ति दी है। जिसके कारण सामान्य लोगों की अपेक्षा दिव्यांगों का हौंसला अधिक बुलंद है। हमें उनकी उपेक्षा नहीं करनी चाहिए उनका सब प्रकार से सम्मान और सहयोग करना चाहिए। यह विचार मातृभूमि सेवा मिशन के संस्थापक डॉ. श्रीप्रकाश मिश्र ने मातृभूमि सेवा मिशन की मध्यप्रदेश की ग्वालियर इकाई द्वारा पैरा स्वीमर रजनी झा के सम्मान समारोह में आयोजित कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि व्यक्त किए। कार्यक्रम का शुभारम्भ कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डॉ. श्रीप्रकाश मिश्र, कार्यक्रम के अध्यक्ष पूर्व मंडलायुक्त ग्वालियर डॉ. बी. एम. शर्मा, वरिष्ठ समाजसेवी केशव पांडे एवं प्रसिद्ध पैरा स्वीमर रजनी झा ने माँ सरस्वती के चित्र पर दीप प्रज्जवलन, माल्यार्पण एवं पुष्पार्चन से हुआ। मातृभूमि सेवा मिशन ग्वालियर इकाई, इंडियन चेम्बर्स ऑफ फार्मर्स, सेक्रेसिटी साख सहकारी संस्था मर्यादित के संयुक्त तत्वावधान में रजनी झा को स्मृति चिन्ह, अंगवत्र देकर सम्मानित किया गया।
डॉ. श्रीप्रकाश मिश्र ने कहा कि पहले दिव्यांगता को हमारे समाज में एक कलंक की तरह देखा जाता था। एक ऐसा अभिशाप जहां दिव्यांग को कोई भी कार्य करने के लायक नहीं माना जाता था और समाज में हीनभावना व बेचारगी की भावना से देखा जाता था। लेकिन बदलते समय के साथ दिव्यांगता ने शारीरिक अक्षमता तथा विकलांग शब्द ने दिव्यांग तक का सफर तय किया है। इंसान का शरीर कितना भी ताकतवर हो, लेकिन अगर उसमें कुछ करने की इच्छा शक्ति नहीं है, तो वह किसी दिव्यांग के जैसा ही है। वहीं अगर किसी का शरीर या कोई अंग कमजोर हो लेकिन कुछ कर गुजरने का जुनून हो, तो वह इंसान ऐसे-ऐसे काम कर सकता है, जो स्वस्थ लोग भी नहीं कर रजनी झा एक ऐसी ही पैरा स्विमर है। डॉ. श्रीप्रकाश मिश्र ने कहा कि मातृभूमि सेवा मिशन समाज के जरूरतमंद बच्चों के कल्याण के लिए समर्पित है।
कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए पूर्व मंडलायुक्त ग्वालियर डॉ. बी. एम. शर्मा ने कहा कि मातृभूमि सेवा मिशन एक श्रेष्ठ कार्य कर रहा है और समाज के ऐसे जरूरतमंद एवं असहाय बच्चों को प्रोत्साहन और उत्साहावर्धन करना समाज का नेक कार्य है। बी. एम. शर्मा ने कहा कि हम सबको सदैव समाज के जरूरत मंद लोगों की सहायता के लिए हर संभव प्रकार से तैयार रहना चाहिए।
कार्यक्रम के अति विशिष्ठ अतिथि केशव पाण्डेय ने कहा रजनी झा का सम्मान करके मातृभूमि सेवा मिशन ने बहुत ही अनुकरणीय कार्य किया है। पैरा स्विमर रजनी झा ने समय-समय पर मातृभूमि सेवा मिशन द्वारा प्राप्त सहयोग के प्रति आभार प्रकट करते हुए कहा मिशन के सहयोग के बिना मेरा एशियन गेम्स तक पहुंचना संभव नहीं था। मैं अपने अथक प्रयास से ऐशियन गेम्स में अपने देश का गौरव बढ़ाने के लिए हर संभव प्रयास करूंगी।
कार्यक्रम के संयोजक अशोक शर्मा ने रजनी झा की उपलब्धियों एवं संघर्ष के बारे में विस्तर से बताया। उन्होंने कहा रजनी झा युवा पीढ़ी के लिए प्ररेणा स्रोत है। अशोक शर्मा ने बताया कि रजनी झा का एशियन गेम्स 2022 के लिए चयन हुआ है। उपस्थित सभी लोगों ने रजनी झा को तिलक लगाकर एवं फूलमाला पहनाकर एशियन गेम्स 2022 की सफलता के लिए शुभकामनायें दी। रजनी झा ने राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अनेक सम्मान प्राप्त किया है।
कार्यक्रम के सहसंयोजक रामहेत शर्मा ने आये सभी अतिथिओं का आभार ज्ञापित किया। कार्यक्रम में सक्रेसिटी साख सहकारी संस्था मर्यादित के सचिव, पुरूषोतम झा, देवन्द्र शर्मा, एडवोकेट, दिनेश छारी, रमेश सिह कुशवाह, बलराम सिंह, अजय तिवारी, डॉ. श्रीकांत शर्मा, विषणु कुमार चांदिल सहित अनेक धार्मिक, सामाजिक एवं आध्यात्मिक संस्थाओं के प्रतिनिधि जन उपस्थित रहे। रजनी झा को साख सहकारी संस्था मर्यादित का ब्रांड अंबैसडर नियुक्त किया गया।

View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll To Top