Now Reading
शनिवार को शहर में बारिश का दौर थमा, धूप निकलने से उमस ने बेहाल किया, अब 13 से फिर शुरू हाेगा बारिश का दाैर

शनिवार को शहर में बारिश का दौर थमा, धूप निकलने से उमस ने बेहाल किया, अब 13 से फिर शुरू हाेगा बारिश का दाैर

ग्वालियर । राजस्थान में बना कम दबाव का क्षेत्र जयपुर के पास पहुंच गया है। यह सिस्टम ग्वालियर चंबल से काफी दूर हो गया है। दूरी बढ़ने से शनिवार को शहर में बारिश का दौर थम गया। धूप निकलने से उमस ने बेहाल कर दिया। हल्के बादल होने से धूप तो कभी छांव की स्थिति बनी रही। दोपहर में गर्मी की चुभन और बढ़ेगी। न्यूनतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड हुआ। मौसम विभाग ने बंगाल की खाड़ी में बने नए सिस्टम से बारिश की उम्मीद जताई है। यह बारिश 13 सितंबर से हो सकती है।

गत दिवस मानसून मेहरबान हो गया। सुबह गरज चमक के साथ रिमझिम बारिश हुई, जिससे अधिकतम तापमान 29.8 डिसे पर आ गया। गत दिवस की तुलना में 4.7 डिग्री सेल्सियस की गिरावट आई। तापमान सामान्य से 3.3 डिसे नीचे रहा। इससे दिन में मौसम सुहाना हो गया। ठंडक का अहसास हुआ। लाेग पिछले एक हफ्ते से उमस भरी गर्मी से बेहाल थे, उससे राहत मिल गई। गत दिवस बारिश पूर्वी राजस्थान में बने कम दबाव के क्षेत्र के कारण हुई थी। शनिवार को आसमान साफ था, लेकिन सुबह 7 बजे के बाद बादल छाए, मगर हवा में नमी कम होने की वजह से बारिश नहीं हो सकी। नमी घटने से आसमान में हल्के बादल ही छा कर रह गए।

बंगाल की खाड़ी में बना है कम दबाव का क्षेत्रः बंगाल की खाड़ी में 11 सितंबर को कम दबाव का क्षेत्र विकसित हो रहा है। यह मजबूत होकर आगे बढ़ेगा। इस कम कम दबाव के क्षेत्र का असर 13 सितंबर से शहर में दिखने लगेगा। मध्यम से लेकर तेज बारिश के आसार रहेंगे। 15 सितंबर से दो दिनों तक हल्की बारिश का दाैर जारी रहेगा। 17 सितंबर को नया कम दबाव का क्षेत्र विकसित हो रहा है। सितंबर का सबसे मजबूत सिस्टम है। इससे ग्वालियर सहित अंचल में भारी बारिश हो सकती है। 23 सितंबर तक इसका असर रहेगा। वहीं मानसून ट्रफ लाइन भी सामान्य स्थित में है। उत्तर की ओर खिसकती है तो ग्वालियर के ऊपर आ जाएगी। ग्वालियर के ऊपर आती है ताे भारी बारिश की संभावना अधिक रहेगी।

View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll To Top