Now Reading
घरेलू कलह से परेशान महिला ने पहले 4 साल के बेटे को मारा, फिर फांसी लगाकर दी जान

घरेलू कलह से परेशान महिला ने पहले 4 साल के बेटे को मारा, फिर फांसी लगाकर दी जान

छतरपुर के मजरा चरहीपुरवा में दिलदहलाने वाला मामला सामने आया है। 33 साल की महिला ने 4 साल के मासूम को पहले फंदे पर लटका दिया, इसके बाद खुद भी फांसी लगा ली। शुरुआती जांच में घटना की वजह घरेलू कलह सामने आई है। महिला के मायके वाले इसे हत्या बता रहे हैं। उनका आरोप है कि बेटी के शरीर पर चोट के निशान थे। घटना के समय पति घर में नहीं था।

चरही पुरवा गांव के रहने वाले ईश्वर प्रसाद उर्फ छुटटू राजपूत का पत्नी मीरा से अक्सर विवाद होता रहता था। गुरुवार को भी किसी बात को लेकर दोनों में झगड़ा हुआ। गुस्से में ईश्वर बहन के गांव बिशनाखेरा चला गया। घर में मीरा और उसके दो बेटे थे। खाना खाने के बाद बड़ा बेटा राकेश रात में दादा के पास खेत पर बने मकान में सोने चला गया। घर पर मीरा और छोटा बेटा मूरत सिंह थे।

आशंका है, मीरा ने रात में मूरत को पहले फंदे पर लटका दिया। इसके बाद खुद भी फांसी लगा ली। शुक्रवार को जब मीरा का दरवाजा नहीं खुला, तो पड़ोसियों ने आवाज लगाई। जवाब नहीं मिलने पर शंका हुई। दरवाजा खटखटाया, लेकिन जवाब नहीं आने पर परिजनों को जानकारी दी। उनके आने के बाद दीवार फांदकर घर के भीतर गए। अंदर 4 साल का मूरत फंदे से झूल रहा था, जबकि मीरा के गले में रस्सी का फंदा था, वह घुटनों के बल जमीन पर बैठी पीछे चारपाई से टिकी थी।

View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll To Top