Now Reading
ऊर्जा मंत्री देर रात अचानक गुना जिला अस्पताल पहुंचे,सिविल सर्जन से बोले- महिला वार्ड के टॉयलेट का नल ठीक कराइये, बेवजह रैफर करने से बचें

ऊर्जा मंत्री देर रात अचानक गुना जिला अस्पताल पहुंचे,सिविल सर्जन से बोले- महिला वार्ड के टॉयलेट का नल ठीक कराइये, बेवजह रैफर करने से बचें

गुना जिले के प्रभारी मंत्री एवं प्रदेश के ऊर्जा मंत्री बुधवार देर रात अचानक जिला अस्पताल पहुंच गए। यहां उन्होंने अस्पताल परिसर का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने अस्पताल में भर्ती मरीजों के हाल-चाल जाने और अस्पताल की व्यवस्थाओं का जायजा लिया। उन्होंने महिला वार्ड के टॉयलेट में खराब व्यवस्थाओं पर अपनी नाराजगी जाहिर की। साथ ही जल्द से जल्द व्यवस्था ठीक करने के निर्देश दिए।

प्रभारी मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर भोपाल से ग्वालियर जा रहे थे। गुना में उनके रुकने का कोई कार्यक्रम नहीं था। उन्हें केवल गुना से गुजरना था। देर रात 10 बजे के बाद मंत्री तोमर गुना से निकलते समय सीधे अस्पताल पहुंच गए। उन्हके रिसीव करने कई प्रशासनिक अधिकारी पहुंचे थे। इसी दौरान वे सीधे जिला चिकित्सालय पहुंच गए। यहां उन्होंने कई वार्डों का निरीक्षण किया।

महिला वार्ड के निरीक्षण के दौरान उन्हें टॉयलेट में गंदगी दिखाई दी और वहां के नल भी खराब मिले। उन्होंने अस्पताल प्रबंधन को नल ठीक कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि महिला वार्ड में जो नल की टोंटी है, उसे ठीक कराइये। ऑर्थोपेडिक डिपार्टमेंट से मरीजों को बेवजह रैफर करने पर उन्होंने अस्पताल प्रबंधन को सख्त हिदायत दी। उन्होंने कहा कि बेवजह किसी मरीज को रैफर न किया जाए। उन्होंने एक व्यक्ति को रैफर करने का सवाल जब सिविल सर्जन से पूछा तो वह जवाब नहीं दे पाए। साथ ही एक मरीज को रैफर करने की बात कही जा रही थी लेकिन 4 दिन में भी उसे रैफर नहीं किया जा सका। इस बात पर मंत्री ने नाराजगी जाहिर की।

इस दौरान मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि यह शिवराज सिंह चौहान की सरकार है। अंतिम पंक्ति में खड़े व्यक्ति तक सेवाएं पहुंचाना हमारा लक्ष्य है। अस्पताल में कई कमियां मिली हैं, जिन्हें ठीक करने के निर्देश अस्पताल प्रबंधन को दिए हैं।

View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll To Top