Now Reading
पिता का दोस्त बच्चे को उठा ले गया, सुबह पुलिस से सामना हुआ, तो झाड़ियों में छोड़कर भाग गया; फिरौती के लिए वारदात की आशंका

पिता का दोस्त बच्चे को उठा ले गया, सुबह पुलिस से सामना हुआ, तो झाड़ियों में छोड़कर भाग गया; फिरौती के लिए वारदात की आशंका

ग्वालियर । माधवगंज नादरिया की माता इलाके से 3 साल के बच्चे के अपहरण का मामला सामने आया है। दरवाजे से बच्चे को ले जाते हुए कुछ लोगों ने देख लिया था। अपहरणकर्ता बच्चे के पिता का दोस्त और पूर्व पड़ोसी निकला। पुलिस ने घेराबंदी की, तो अपहरणकर्ता रविवार सुबह 12 किलोमीटर दूर बच्चे को कारसदेव मंदिर के पास झाड़ियों में छोड़कर भाग गया। घटना शनिवार शाम 7.30 बजे से रविवार सुबह के बीच की है। पुलिस आरोपी की तलाश कर रही है। पता चला है कि आरोपी स्मैक के नशे का आदी है। संभव है कि उसने पैसों के लिए अपहरण किया हो, लेकिन वह सफल नहीं हो सका।

माधवगंज स्थित नादरिया की माता निवासी विवेक सिंह कुशवाह (28) पुत्र प्रकाश कुशवाह निजी कंपनी में कर्मचारी है। परिवार में पत्नी माया और एक 3 साल का बेटा ऋषभ है। शनिवार शाम 7.30 बजे विवेक घर पर खाना खा रहा था। बेटा पास ही खेल रहा था, तभी बाहर से किसी ने आवाज लगाई। आवाज पंकज तोमर की लगी। पंकज कुछ समय पहले तक पड़ोस में किराए पर रहता था, इसलिए उसका घर पर आना-जाना था।

इस बीच, ऋषभ खेलते हुए बाहर दरवाजे तक चला गया। उसने बोला भी था कि अंकल आए हैं। इसके बाद बच्चे की आवाज नहीं सुनी। विवेक ने सोचा खाना खाने के बाद बाहर जाता हूं। 15 मिनट बाद ऋषभ की मां उसके लिए दूध लेकर पहुंची। जब उसने बेटे के बारे में पूछा तो विवेक ने कहा कि पंकज के पास खेल रहा होगा। माया ने बाहर आकर देखा, तो वहां कोई नहीं था। इसके बाद विवेक को बताया। बच्चा नहीं मिलने पर हंगामा हो गया।

बच्चा नहीं मिलने पर परिवार वालों ने छानबीन शुरू की, तो कुछ लोगों ने बताया कि ऋषभ को पंकज तोमर गोदी में लेकर भागते दिखा था। इसके बाद विवेक ने पंकज की तलाश की, लेकिन वह नहीं मिला। रात को माधवगंज थाना पुलिस से शिकायत की। थाना प्रभारी वर्षा सिंह ने मामले को गंभीरता से लिया। वरिष्ठ अफसरों को अवगत कराया। अफसरों ने भी तत्काल बच्चे का पता लगाने के निर्देश देकर नाइट गश्त पर निकले थाना प्रभारी गिरवाई रघुवीर मीणा व जनकगंज थाना प्रभारी संजीव नयन शर्मा की टीमें बनाकर सर्चिंग में लगाईं।

नारायण विहार में मिली लोकेशन, बच्चा छोड़ भागा

पुलिस रात भर पंकज की तलाश में लगी रही। इस बीच, पुलिस को पता लगा कि अपहरणकर्ता स्मैकची है। इसके बाद अफसरों की चिंता और बढ़ गई। रविवार सुबह सूचना मिली, एक युवक ऐसे ही बच्चे के साथ गोला का मंदिर नारायण विहार कॉलोनी में कारसदेव बाबा के मंदिर की ओर जाता दिखा है। पुलिस ने तत्काल घेराबंदी की। कुछ ही देर में पंकज को घेर लिया। पुलिस से सामना होते ही पंकज बच्चे को कच्चे रास्ते पर छोड़कर भाग गया।

संभव है कि पैसों के लिए अपहरण

पुलिस के मुताबिक पंकज तोमर स्मैक का आदी है। वह नशे के लिए कुछ भी कर सकता है। वह अक्सर नारायण विहार में कारस देव मंदिर के पास बैठा देखा जाता है। बच्चे को लेकर वह वहीं जा रहा था। इसके बाद वह बच्चे का क्या करता, इसके बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता। प्रारंभिक पड़ताल में लग रहा है, उसने बच्चे का अपहरण पैसों के लिए किया है, लेकिन पुलिस दूसरे एंगल पर भी जांच कर रही है।

View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll To Top