Now Reading
संसद का मानसून सेशन:जासूसी कांड पर पार्लियामेंट में हंगामा, दोनों सदनों की कार्यवाही सोमवार तक के लिए स्थगित

संसद का मानसून सेशन:जासूसी कांड पर पार्लियामेंट में हंगामा, दोनों सदनों की कार्यवाही सोमवार तक के लिए स्थगित

संसद के मानसून सेशन का तीसरा हफ्ता भी हंगामेदार रहा। विपक्ष पेगासस जासूसी कांड और नए कृषि कानून को लेकर केंद्र सरकार पर लगातार हमलावर रहा। विपक्षी नेताओं की मांग है कि सदन में इन मुद्दों पर चर्चा की जाए। वहीं, केंद्र का कहना है कि वो हर मसले पर बहस के लिए तैयार है, लेकिन विपक्ष का शोर-शराबा बंद नहीं हो रहा।

संसद की कार्यवाही सुबह 11 बजे से शुरू हुई। लोकसभा में विपक्षी नेता पेगासस प्रोजेक्ट मामले पर नारेबाजी करने लगे। वहीं, राज्यसभा में विपक्षी सांसद इस मुद्दे को लेकर सदन के वेल में चले आए और डिस्क्लोज पेगासस के नारे लगाए।

हंगामे के चलते लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही दोपहर 12 बजे तक रोक दी गई। 12 बजे के बाद दोनों सदनों की कार्यवाही दोबारा शुरू हुई लेकिन हंगामा नहीं थमा। ऐसे में लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही सोमवार सुबह 11 बजे तक स्थगित कर दी गई।

लोकसभा में टैक्सेशन लॉ (अमेंडमेंट) बिल 2021 पास
लोकसभा में आज टैक्सेशन लॉ (अमेंडमेंट) बिल 2021 पास हुआ। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि हम अपना वादा पूरा कर रहे हैं। इसी के तहत यह बिल सदन में लाया गया है।

संसद ने रवि कुमार दहिया को बधाई दी
ओलिंपिक में सिल्वर मेडल जीतने वाले रवि कुमार दहिया को संसद ने शुभकामनाएं दीं। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने उनके भविष्य की मंगलकामनाएं कीं। वहीं, राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश ने सदन और खुद की ओर दहिया को बधाई दी।

किसानों का समर्थन करने के लिए विपक्ष के नेता आज संसद से जंतर-मंतर तक मार्च करेंगे। ये लोग दोपहर 12:30 बजे यहां से निकलेंगे। कांग्रेस नेता राहुल गांधी भी इनके साथ होंगे। तृणमूल कांग्रेस और आम आदमी पार्टी का अब तक साफ नहीं हो पाया है कि वो भी इसमें शामिल होंगे या नहीं।

पेगासस और कृषि कानून पर लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव
कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने पेगासस और कांग्रेस सांसद मणिकम टैगोर ने नए कृषि कानून के मामले पर लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव भेजा। इसका मतलब है कि वो सदन के सारे कामकाज रोककर इस मसले पर चर्चा की मांग कर रहे हैं।

गुरुवार को अनिवार्य रक्षा सेवा विधेयक, 2021 संसद में पास हुआ
गुरुवार को अनिवार्य रक्षा सेवा विधेयक, 2021 को संसद की मंजूरी मिली। इसमें देश की सुरक्षा, जन-जीवन और सम्पत्ति को सुरक्षित रखने के लिए अनिवार्य रक्षा सेवाएं बनाए रखने का प्रावधान है। विपक्ष के हंगामे के बीच राज्यसभा में इस बिल को ध्वनिमत से मंजूरी दी गई। लोकसभा में यह 3 अगस्त को ही पारित हो गया था।

नेशनल कॉन्‍फ्रेंस के दो सांसदों ने काली पट्टी बांधकर प्रदर्शन किया
संसद भवन में गेट नंबर 4 के बाहर नेशनल कॉन्फ्रेंस के दो सांसदों ने आर्टिकल 370 के मसले पर हाथ पर काली पट्टी बांधकर प्रदर्शन किया। हसनैन मसूदी और मोहम्मद अकबर लोन ने कहा कि जो भी वहां पर हुआ, वह हमें दिए गए वादे के खिलाफ था। जो छीना गया वो वापस हो। वहां पर पहले वाले हालात लाए जाएं तभी वहां पर शांति लाई जा सकती है।

बीते दो हफ्ते में संसद में 18 घंटे ही हुआ कामकाज
संसद का मानसून सेशन 19 जुलाई से शुरू हुआ। पहला और दूसरा हफ्ता मिलाकर दोनों सदनों में 18 घंटे ही कामकाज हो सका, जो कि 107 घंटे होना चाहिए था। लोकसभा में 7 घंटे और राज्यसभा में 11 घंटे कामकाज हुआ।

View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll To Top