Now Reading
खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया और सहकारिता मंंत्री अरविंद भदौरिया के बीच जमकर बहस, सारंग को बीच-बचाव करना पड़ा

खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया और सहकारिता मंंत्री अरविंद भदौरिया के बीच जमकर बहस, सारंग को बीच-बचाव करना पड़ा

 

एमपी में शिवराज सिंह के मंत्रियों के बीच सब कुछ ठीक नहीं चल रहा। बैठकों में बात बेबात उनमें मतभेद ही नही होते बल्कि बहस चिंताजनक हालात तक पहुंच जाती है  । कल भी ऐसी ही बहस यशोधरा राजे सिंधिया और अरविंद भदौरिया के बीच हुई जिसके चलते बैठक में मौजूद अन्य मंत्री असहज हो गए । 

 

भोपाल। आने वाले तीन विधानसभा और एक लोकसभा सीट के उपचुनाव को लेकर रखी गई प्रभारी मंत्रियों की उच्च स्तरीय बैठक में खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया और सहकारिता मंंत्री अरविंद भदौरिया के बीच जमकर बहस हुई। हालात इस स्तर पर पहुंच गए कि यशोधरा कैबिनेट कक्ष से बाहर चली गईं। जब लौटीं तो चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग को बीच-बचाव करना पड़ा।

विवाद की शुरुआत वन मंत्री विजय शाह के पहनावे के ढंग को लेकर हुई। शाह ने कुर्ता-पायजामा इस तरह पहना था, जिसे लेकर यशोधरा नाराज हुईं। बहरहाल उपचुनाव वाली यह बैठक मंगलवार को कैबिनेट के ठीक बाद रखी गई थी। जब यशोधरा और भदौरिया के बीच बहस हो रही थी, उस समय मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान वहां नहीं थे। वे घटनाक्रम के करीब पंद्रह मिनट बाद वहां पहुंचे, तब तक स्थिति शांत हो गई थी। इस बैठक में प्रभारी मंत्रियों को अलग-अलग जवाबदारी देने पर बात हुई। मंत्रियों में कमल पटेल, विजय शाह, रामखेलावन पटेल, प्रेम सिंह पटेल, उषा ठाकुर समेत अन्य मंत्री मौजूद रहे।

  • शुरुआत यहां से… विजय शाह ने कुर्सी पर बैठते समय कुर्ता झटकारा। इससे पायजामा और कुर्ता बेढंगा हो गया।
  • यशोधरा (विजय के ठीक पीछे बैठीं थीं) : ये क्या तरीका है, शाह जी। पीछे महिलाएं भी बैठीं हैं। उषा ठाकुर भी बैठी हैं।
  • विजय शाह : जी-जी।
  • भदौरिया : विजय जी आप देखा करो, वो महाराजा हैं और आप राजा हो?
  • यशोधरा : आपको क्या बीच में बोलने की आदत है? उस दिन रेत के मसले पर भी बीच में बोल रहे थे।
  • भदौरिया : आप बोलने से नहीं रोक सकतीं। मैं भी तो अपनी बात रखूंगा, सीएम तो आप हैं नहीं।
  • यशोधरा (गुस्से में) : ठाकुर!, आंखे मत दिखाओ। तुम मुझसे बदतमीजी कर रहे हो।
  • भदौरिया (तेज आवाज में) : मैं सिर्फ अपनी बात कह रहा हूं और ये मेरा हक है।
  • विश्वास : आप सब शांत हो जाइए, यह सब ठीक नहीं लगता। यशोधरा कैबिनेट बैठक कक्ष से बाहर निकल गईं। थोड़ी देर बाद लौटीं।
  • विश्वास : आप दोनों कुछ नहीं बोलेंगे। बैठक शुरू करिए। (करीब पांच मिनट तक सब खामोश रहे)

पहले भी उलझ चुके हैं मंत्री

इससे पहले भी कैबिनेट और इसके बाद होने वाली अनौपचारिक कैबिनेट बैठकों में मंत्री किसी न किसी मसले पर मंत्री आपस में उलझ चुके हैं। अन्य मंत्रियों को बीच-बचाव का विवाद निपटाना पड़ा।

View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll To Top