Saturday, January 16, 2021
ताज़ातरीनदेशराज्य

प्रधानमंत्री बोले- पुलवामा हमले में वीर बेटों के जाने से देश दुखी था, तब कुछ लोग उस दुख में शामिल नहीं थे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गुजरात दौरे का आज दूसरा दिन है। आज सरदार पटेल की 145वीं जयंती भी है। इस मौके पर मोदी केवडिया में स्टेच्यू ऑफ यूनिटी के पास हो रहे एकता दिवस के प्रोग्राम को संबोधित किया। उन्होंने पुलवामा हमले का जिक्र करते हुए कहा, “देश कभी भूल नहीं सकता कि जब वीर बेटों के जाने से पूरा देश दुखी था, तब कुछ लोग उस दुख में शामिल नहीं थे। वे पुलवामा हमले में भी अपना राजनीतिक स्वार्थ खोज रहे थे।”

पटेल को याद करते हुए मोदी ने धारा 370 की बात भी छेड़ी। उन्होंने कहा, “देश में कई ऐसे काम हुए हैं जो असंभव मान लिए गए थे। कश्मीर से धारा 370 हटने का एक साल पूरा हो गया है। सरदार साहब के रहते उन्हें ही यह जिम्मेदारी दे दी जाती, तो यह काम हमें नहीं करना पड़ता। कश्मीर से 370 हटाना सरदार साहब का सपना था। कश्मीर अब विकास के रास्ते पर बढ़ चुका है।”

मोदी ने कहा, “देश आज के लौहपुरुष को श्रद्धासुमन अर्पित कर रहा है। देश एक बार फिर लौहपुरुष की गगनचुंबी प्रतिमा के तले विकास करने की बात दोहरा रहा है। कल मैंने केवडिया में जंगल सफारी समेत कई टूरिज्म प्रोजेक्ट्स का लोकार्पण किया था।”

“यह स्थान भारत का तीर्थस्थल बन गया है। यह स्थान दुनिया के टूरिज्म मैप पर छाने वाला है। आज यहां सी-प्लेन सेवा की शुरुआत होने जा रही है। स्टेच्यू ऑफ यूनिटी देखने के लिए लोगों को अब सी-प्लेन की सुविधा मिलेगी। यहां के लोगों को रोजगार के भी नए मौके मिल रहे हैं। मैं गुजरात सरकार, यहां के सभी नागरिकों और 130 करोड़ देशवासियों को बधाई देता हूं।”

“ये भी अद्भुत संयोग है कि आज महर्षि वाल्मीकि जयंती भी है। भारत को और ऊर्जावान बनाने का काम सदियों पहले महर्षि वाल्मीकि ने किया था। भगवान राम के आदर्श देश के कोने-कोने में गूंज रहे हैं, तो इसका श्रेय महर्षि वाल्मीकि को जाता है।”

“तमिल के महाकवि और स्वतंत्रता सेनानी सुब्रमण्यम भारती ने जिस भाव को प्रकट किया, दुनिया की सबसे प्राचीन भाषा में कहा- चमक रहा उत्तुंग हिमालय। जोड़ नहीं जिसका धरती पर, वो नगरराज हमारा है। आगे कौन जगत में हमसे, यह है भारत देश हमारा। भारत के लिए इस अद्भुत भावना को मां नर्मदा के किनारे सरदार साहब की प्रतिमा की छांव में करीब से महसूस कर सकते हैं। यही बात हमें विपत्ति से लड़ना और जीतना सिखाती है।”

पटेल को नमन किया, एकता दिवस की परेड में शामिल हुए
इससे पहले मोदी ने स्टेच्यू ऑफ यूनिटी पर पानी-फूल चढ़ाकर पटेल को श्रद्धांजलि दी और उन्हें नमन किया। प्रधानमंत्री एकता दिवस की परेड में भी शामिल हुए। इस परेड में गुजरात पुलिस, सेंट्रल रिजर्व आर्म्ड फोर्सेज, बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स, इंडो-तिब्बतन बॉर्डर पुलिस, CISF और नेशनल सिक्योरिटी गार्ड्स के जवानों ने हिस्सा लिया। मोदी ने जवानों को एकता की शपथ दिलवाई। इसके बाद कल्चरल प्रोग्राम हुए और एयरफोर्स के फाइटर जेट्स ने भी परफॉर्म किया।

Leave a Reply