Thursday, January 21, 2021
ताज़ातरीनराज्य

कमलनाथ को तो ये भी नहीं पता कि, उनके पैरों की जमीन कहां है’-प्रहलाद पटेल

दमोह। मध्यप्रदेश उपचुनाव के लिए बीजेपी ने मैदान में कई बड़े नेताओं और मंत्रियों को उतार दिया है. केंद्रीय मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल भी चुनावी प्रचार करने पहुंच गए हैं. अपने दौरे के दौरान प्रहलाद पटेल ने पूर्व सीएम कमलनाथ पर जमकर हमला बोला है.

केंद्रीय मंत्री पटेल ने कहा कि, उपचुनाव के जो परिणाम आएंगे, उसमें जनादेश भाजपा को मिलेगा. उपचुनाव में कितनी सीटें भाजपा जीतेगी, इस सवाल पर उन्होंने केवल जनादेश की बात कही. उन्होंने ये भी कहा कि, लोकतंत्र में एक अच्छी शुरुआत हुई है. जिसमें पहले दलबदल होता था, लेकिन अब अपनी पार्टी को छोड़ने वाला विधायक अपनी विधायकी भी छोड़ रहा है और फिर से जनता के बीच जनादेश लेने जा रहा है. पटेल ने कहा, ये लोकतंत्र के लिए बहुत अच्छी बात है.

कमलनाथ ने दावा किया था कि, भाजपा के अनेक विधायक उनके संपर्क में हैं, इस सवाल पर प्रहलाद सिंह ने कहा कि, ‘कमलनाथ को तो ये भी नहीं पता कि, उनके पैरों की जमीन कहां है’. केंद्रीय मंत्री ने एक तरफ जहां भारतीय जनता पार्टी की जीत का दावा करते हुए उपचुनाव में जनादेश मिलने की बात कही है. तो वहीं दूसरी तरफ पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के दावों पर तंज भी कसा है. 28 अक्टूबर यानि आज छतरपुर जिले के बड़ा मलहरा विधानसभा के घुवारा में केंद्रीय मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल जनसभा को संबोधित करेंगे.

ये भी जानिए-

केंद्रीय मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल छतरपुर जिले की बड़ा मलहरा विधानसभा में बीजेपी प्रत्याशी प्रद्युम्न सिंह लोधी के पक्ष में प्रचार करने जाएंगे. ये सीट मध्यप्रदेश की राजनीति में काफी महत्वपूर्ण योगदान रखती है. बड़ा मलहरा सीट पर कांग्रेस ने सॉफ्ट हिंदुत्व का कार्ड खेला है. पार्टी ने बड़ा मलहरा विधानसभा में प्रत्याशी के रूप में साध्वी राम सिया भारती को मैदान में उतारकर दिया दिखाने की कोशिश की है कि कांग्रेस भी कहीं ना कहीं हिंदुत्व की पार्टी है. राम सिया भारती खुद इस बात को कह चुकी हैं कि वह राष्ट्रवादी हैं और साध्वी हैं.

बड़ा मलहरा विधानसभा सीट हमेशा से ही मध्यप्रदेश की राजनीति में सुर्खियों में रही है. बड़ा मलहरा विधानसभा सीट से ही बीजेपी की फायर ब्रांड नेता व पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती विधायक रहीं थी. यही वजह है कि ऐसा माना जाता है कि प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से उमा भारती का इस विधानसभा में सीधा हस्तक्षेप रहता है.

बड़ा मलहारा में आज भी उमा भारती मानीं जाती हैं फायर ब्रांड नेता

राजनीतिक जानकारों की मानें तो उमा भारती ने जिस समय राम रूपी यात्रा शुरू की थी तो सबसे पहले इसी विधानसभा में उन्होंने अपनी राजनीतिक जमीन तलाशी थी और उमा भारती आज भी इस विधानसभा में ना सिर्फ फायर ब्रांड नेता के रूप में जानी जाती हैं, बल्कि कट्टर हिंदुत्व का एक चेहरा भी मानी जाती हैं.

Leave a Reply