Tuesday, October 20, 2020
ताज़ातरीनराज्य

चंबल में फिर सक्रिय हुआ डकैत बैजनाथ, व्यापारियों से की टेरर टैक्स की मांग

शिवपुरी। एक समय था जब चंबल, शिवपुरी, मुरैना, चित्रकूट, रीवा के इलाकों में डकैतों का काफी खौफ बना रहता था. वहीं पिछले कुछ समय से शिवपुरी अंचल में डकैतों से शांति बनी हुई थी. अब लंबे समय के बाद डकैतों की आहट फिर से शुरु हो गई है. धौलपुर राजस्थान के डकैत बैजनाथ उर्फ बैजू गुर्जर गिरोह ने जिले में पत्थर संचालकों पर गोलियां चलाकर उन्हें धमकाते हुए टेरर टैक्स की मांग की है. जिसके बाद से इस गिरोह की तलाश ग्वालियर के घाटीगांव के जंगलों में की जा रही है. ग्वालियर रेंज के आईजी ने डकैत बैजू पर इनाम की घोषणा की है. धौलपुर में इस पर 65 हजार का इनाम घोषित है.

जिले में धौलपुर का डकैत गिरोह बैजू उर्फ बैजनाथ एक बार फिर खदानों पर आ गया है. बैजू ने जंडेल गुर्जर, नरेंद्र गुर्जर, फिरोज खां और रवि पवैया की खदानों पर काम कर रहे लेबर को खदेड़ने के बाद खदान संचालकों के नाम धमकी भरी चिट्ठी लिखकर दो-दो लाख का टेरर टैक्स मांगा है. बैजू ने धमकी भरी चिट्टी मजदूरों को थमाकर जंगलों में घुस गया है.शिवपुरी पुलिस ग्वालियर तक डकैत गिरोह की तलाश में जंगलों को खंगाल रही है. ग्वालियर के घाटीगांव के जंगलों में भारी तादाद में पुलिस फोर्स ने धौलपुर राजस्थान के डकैत गिरोह बैजू निवासी बैरला धौलपुर को तलाश किया है. भंवरपुरा, मोहना, डांटा खिरक, कन्हार सहित पहाड़गढ़ की सीमा को छूने वाले जंगलों में मोहना, घाटीगांव, आरोन, भंवरपुरा थाने का फोर्स डकैतों की तलाश में जुट गया है.

इससे पहले अंचल में आखिरी लिस्टेड गिरोह डकैत गट्टा उर्फ राजेंद्र गुर्जर का रहा है. करीब 8 साल पहले श्योपुर में डकैत गट्टा मारा गया था. उसके बाद से ग्वालियर रेंज में डकैतों की जमात खत्म मानी जा रही थी. कुख्यात डकैत गिरोह बैजू धौलपुर शहर के सीमापवर्ती गांव मोरोली का रहने वाला है. डकैत बैजू पर करीब 65 हजार का नाम घोषित है. कुख्यात दस्यु बैजू धौलपुर के सर मथुरा, बसई, डांग, कोतवाली, बाड़ी, सदर और भरतपुर के सेवर, भुसावर गढ़ी, बाजना और करौली जिले के केला देवी का मंडरायल थाने पर वंचित है.

वहीं आईजी ग्वालियर रेंज अविनाश शर्मा ने डकैत बैजू पर इनाम में इजाफा करते हुए बैजू पर 30 हजार और गिरोह के सदस्य गुड्डा गुर्जर पर 30 हजार का इनाम घोषित कर दिया है. ग्वालियर चंबल अंचल में 16 सीटों पर उपचुनाव होना है, माना जा रहा है कि यहां गिरोह वोटरों को वोट डालने के लिए धमका सकता है.

Leave a Reply