Thursday, January 21, 2021
ताज़ातरीनदेश

भारी शोर शराबे के बीच राज्यसभा में हंगामे के बीच कृषि बिल पास

संसद के मानसून सत्र के सातवें दिन रविवार को कृषि बिल को लेकर राज्यसभा में जोरदार हंगामा हुआ। कई सांसद वेल में पहुंच गए। TMC सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने उपसभापति के सामने रूल बुक फाड़ी गई। चेयर के सामने लगा माइक तोड़ा गया। राज्यसभा की कार्यवाही कुछ देर के लिए स्थगित कर दी गई। इसके बाद भारी हंगामे के बीच कृषि से जुड़े दो बिल ध्वनि मत से पास हो गए। इसके बाद राज्यसभा की कार्यवाही सोमवार तक के लिए स्थगित की गई।

केंद्रीय कृषि और किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने आज राज्यसभा में कृषि से जुड़े विधेयकों को राज्यसभा में पेश किया। उन्होंने कृषक उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सरलीकरण) विधेयक 2020, कृषक (सशक्तिकरण और संरक्षण) कीमत आश्वासन और कृषि सेवा पर करार विधेयक 2020 प्रस्तुत किया। लोकसभा से दोनों बिल पहले ही पास हो चुके थे। कृषि बिल को लेकर राज्यसभा में जोरदार हंगामा हुआ। इस दौरान टीएमसी समेत कई विपक्षी पार्टियों के सांसद वेल में पहुंच गए। टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने रूल बुक फाड़ी। उपसभापति के सामने का माइक तोड़ दिया गया। मतविभाजन की मांग और सदन की कार्यवाही टालने की मांग को नहीं मानने पर यह हंगामा हुआ। इसके बाद सदन की कार्यवाही कुछ देर के लिए स्थगित की गई। इसके बाद ध्वनि मत के जरिए वोटिंग की करवाई गई और कृषि संबंधी विधेयक पारित हो गए।

शिवसेना सांसद संजय राउत ने कि क्या सरकार देश को आश्वस्त कर सकती है कि कृषि सुधार विधेयकों के पारित होने के बाद, किसानों की आय दोगुनी हो जाएगी और कोई किसान आत्महत्या नहीं करेगा? उन्होंने कहा कि इन विधेयकों पर चर्चा के लिए एक विशेष सत्र बुलाया जाना चाहिए।

अकाली दल की चेतावनी:

शिरोमणि अकाली दल (SAD) के सांसद नरेश गुजराल ने बिल को सेलेक्ट कमेटी के पास भेजने की मांग करते हुए कहा कि सभी हितधारकों की बातों को सुना जाना चाहिए। सरकार को किसानों को कमजोर नहीं समझना चाहिए।

Leave a Reply