Saturday, January 16, 2021
ताज़ातरीनराज्य

पीडीएस भंडार संचालक की मनमानी के चलते उपभोक्ताओं ने किया चक्काजाम

भिंड। आलमपुर वार्ड नं 11,12 के लिए खाद्य वितरण करने वाला उपभोक्ता भंडार अन्नपूर्णा उपभोक्ता भंडार की मनमानी से परेशान होकर उपभोक्ताओं ने गुरुवार सुवह एक सैकडा से अधिक लोगो ने सोनभद्रिक नदी किनारे रॉड जैम कर दिया। फिर हुआ जम के बवाल। एक घंटे तक रहा रोड़ जाम। यातायात बंद होने की सूचना जब खाद्य अधिकारियों को दी गई तो खाद्य विभाग अधिकारी तीन घंटे बाद मौके पर पहुचे ,टैब तक आलमपुर थाना प्रभारी की सक्रियता से जाम खुलबाय गया। थाना प्रभारी परशुराम अहिरवार दल बल के साथ तत्काल घटना स्थल पहुचे। स्थिति को कंट्रोल किया, यहाँ बात दें कि अन्नपूर्णा उपभोक्ता भंडार पर 182 उपभोक्ताओं को खाद्यान्न दिया जाता है, लेकिन लोगो का कहना था कि कोरोना काल मे मिलने वाला फ्री खाद्यान्न सिर्फ दो वार बंटा गया जबकि नि शुल्क वितरण होना था, भण्डार संचालक ने कई महीनों से न तो मिट्टी का तेल वितरण किया न ही अन्य सामान। भंडार संचालक लोगो के साथ हमेसा अभद्रता करता है, वही लोगो ने बताया कि खाद्यान्न तोल के लिये एलोक्ट्रॉनिक कांटा न होने से तोल कम की जाती है,
मामल तूल पकड़ते देख दोपहर बाद संबधित खाद्य अधिकारी अष्ठाना व आलमपुर तहसीलदार नवीन भारद्वाज पहुचे। लोगो ने दोनों अधिकारियों को अपनी समस्या से अबगत कराया। अधिकारियों ने कई लोगो के बयान दर्ज किए। भंडार में काफी मात्रा में स्टॉक होने के बाद भी नही किया जा रहा था। वितरण बड़ी मात्रा में गेहूं, व चावल, शक्कर, चना, व मिटटी का तेल जप्त कर उपभोक्ता भंडार को सील कर दिया गया है,

इनका कहना,
आलमपुर अन्नपूर्णा उपभोक्ता भंडार की शिकायत मिली थी। जिस पर खाद्य अधिकारी अष्ठाना ने भंडार का निरीक्षण किया है। वह काफी संख्या में उपभोक्ताओं की भीड़ थी। सभी की समस्या सुनी गई उपभोक्ता भण्डार का स्टॉक कब्जे में लेकर भंडार सील किया गया है। आगे कार्यवाही की जा रही है,,
===नवीन भारद्वाज तहसीलदार आलमपुर

इनका कहना,
भंडार से कई महीनों से खाद्यान्न वितरण नही किया जा रहा था जिस की समूहिक रूप से एकत्रित होकर भंडार का घेराव किया गया,एसडीएम लहार को शिकायत की गई है,तहसीलदार, खाद अधिकारी ने कार्यवाही की है।
===जितेंद्र रजक वार्ड 12

इनका कहना,
कई महीनों से तेल ,गेहू सही मात्रा में नही मिल रहा है,जितना मिलता है उससे कम मिल रहा है वही तोल भी कम की जा रही थी। तोलकरता को कम तोल के लिये टोकने पर अभद्रता की जाती थी।
—राजकुमारी परिहार वार्ड नं11

इनका कहना,
यह उपभोक्ता भंडार कई महीनों से अपने मनमाने तरीके से खाद्यान्न वितरण किये जा रहा था कई शिकायत के बाद आज कार्यवाही हुई है।
—-रामलखन रायकवार वार्ड 12,

इनका कहना,
मुझे अगस्त माह में 40 किलो गेहूं वजह 27 किलो दिया गया कम क्यों देने का सवाल पर अभद्रता करने लगा और कहा इतना ही मिलेगा लेना हो तो लो,
—कैलास रायकवार वार्ड नं 12

इनका कहना,
अगस्त माह में मुझे दो माह का गेहूं मिलना था। दो माह का गेहूं मुझे 70 किलो मिलना चाहिए लेकिन दिया 50 किलो। इस उपभोक्ता भंडार पर अक्सर
ऐसा ही होता है, खाद्य विभाग को Vयह उपभोक्ता भंडार बंद कर दूसरे जगह दिया जाए जिससे गरीबो को खाद्यान्न पूरा मिल सके,
–श्यामबाबू माझी,वार्ड नं 12

Leave a Reply