Wednesday, January 20, 2021
ताज़ातरीनराज्य

शहर से सैनिक स्कूल मालनपुर जाता देख एनएसयूआई कार्यकर्ताओ ने जमकर किया प्रदर्शन

 

 

शिवराज सिंह मुर्दाबाद, सांसद संध्या राय मुर्दाबाद के लगाए नारे। निर्णय वापस लेने को चेतावनी देते हुए कहा प्रदर्शन जारी रहेगा!

हसरत अली

भिंड! शहर से सैनिक स्कूल को मालनपुर पहुंचाने की पहल का एनएयआई कार्यकर्ताओं ने मंगलवार दोपहर जमकर किया प्रदर्शन! शिवराज सिंह मुर्दाबाद,,,,, मुर्दाबाद,मुर्दाबाद! सांसद संध्या राय मुर्दाबाद,,,मुर्दाबाद, मुर्दाबाद के नारे लगाए। एनएसयूआई (भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन) कार्यकर्ताओ में जबरदस्त रोष देखा गया। उन्होंने सबसे पहले गांधी मार्केट पर आकर नारेबाजी की। फिर सदर बाजार होते हुए परेड चौराहे पर पहुंचे वहां मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, व सांसद संध्या राय का पुतला दहन किया।
उन्होंने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि अगर सैनिक स्कूल का निर्णय वापस नहीं लिया गया तो आगे भी प्रदर्शन जारी रहेंगे। दोपहर होते होते प्रदर्शन तेज हो गया।
प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे शिवांश शर्मा गणेश ने कहा कि गद्दी पर बैठे बड़े नेता हमेशा भिंड के लोगो से छलावा कर रहे। चुनाव आते ही वादा कर जाते है। चुनाव खत्म, वादे खत्म शिवराज सिंह चौहान ने भिंड शहर को सैनिक स्कूल देने का वादा किया था। लेकिन क्या हुआ,,,? इसीलिए अब हम नहीं रुकेंगे जब तक सैनिक स्कूल शहर में नहीं खुलेगा। इस दौरान राहुल कुशवाहा, प्रांशु यादव, शक्तिमान शुक्ला, अंकुश चेतिया, आलोक राजावत, चिराग ठाकुर, छोटू पंडित, राहुल बघेल,संगम यादव, राघवेंद्र यादव,अंकित दुबे, रोबिन राजावत, शिवम क्रोशिया, गोलू ठाकुर,विक्की भदौरिया ,मजहर खान, गोपी शिवम, राहुल प्रताप, वैभव पंडित, रोहित शर्मा, राह  गोपाल भारद्वाज, अक्षत जैन, प्रभांशु दीक्षित , विशाल ठाकुर आदि शामिल रहे।

शहर में है आक्रोश, सदर विधायक ने दी सैनिक स्कूल के मुद्दे पर इस्तीफे की धमकी
बीते 24 घंटे से भिण्ड के जन समुदाय में जबरदस्त आक्रोश है। सोशल मीडिया पर और आम चर्चा में यह बात बहुत मुखर है कि जिला मुख्यालय पर सैनिक स्कूल को होना चाहिए। वही आपस की खींचतान और राजनीति के चलते सैनिक स्कूल मालनपुर के बहाने ग्वालियर ले जाया जा रहा है। सदर विधायक संजीव सिंह कुशवाह संजू ने कहां है के वह किसी भी कीमत पर सैनिक स्कूल को मालनपुर नहीं ले जाने देंगे तथा हर हाल में सैनिक स्कूल जिला मुख्यालय पर स्थापित होगा चाहे इसके लिए मुझे इस्तीफा ही क्यों ना देना पड़े। सांसद संध्या राय से इस बारे में उनकी राय जानने के लिए फोन किया पर उन्होंने फोन नहीं उठाया।

 

 

Leave a Reply