Monday, January 18, 2021
ताज़ातरीनराज्य

कोरोना संक्रमण की वजह से शिप्रा और नर्मदा के घाटों पर स्नान पर रोक

उज्जैन, जबलपुर । सोमवती-हरियाली अमावस्या पर उज्जैन में शिप्रा नदी के घाटों पर पुलिस का पहरा है। कोरोना संक्रमण के मद्देनजर इस बार हरियाली अमावस्या पर स्नान पर सख्ती से रोक लगा दी गई है। आज ही श्रावण सोमवार और महाकाल की तीसरी सवारी का दिन होने के कारण हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं के आने की संभावना थी। उधर जबलपुर सहित प्रदेश के कई इलाकों में नर्मदा स्नान पर भी रोक लगाई गई है। जबलपुर में ग्वारीघाट मार्ग पर पुलिस का सख्त पहरा है। उधर ग्वारीघाट पर सन्नाटा पसरा हुआ है।

महाकाल मंदिर से शाम चार बजे शाही ठाठबाट के साथ राजा की सवारी नगर भ्रमण के लिए रवाना होगी और शिप्रा के रामघाट पहुंचेगी। यहां पुजारी भगवान का शिप्रा जल से अभिषेक-पूजन करेंगे। पूजन पश्चात सवारी रामानुजकोट, हरसिद्धि मंदिर के सामने से बड़ा गणेश होते हुए पुनः महाकाल मंदिर पहुंचेगी।

भगवान की तीसरी सवारी महाकाल मंदिर से परिवर्तित मार्ग से निकाली जाएगी। परिवर्तित मार्ग अनुसार भगवान महाकालेश्वर की सवारी महाकाल मंदिर से बड़ा गणेश मंदिर होते हुए हरसिद्धि मन्दिर चौराहा पहुंचेगी। यहां से झालरिया मठ और बालमुकुंद आश्रम होते हुए सवारी रामघाट पर आएगी। रामघाट पर पूजन-अर्चन के पश्चात सवारी रामानुजकोट, हरसिद्धि की पाल होते हुए हरसिद्धि मंदिर मार्ग, बड़ा गणेश मन्दिर के सामने से होती हुई पुन: महाकालेश्वर मंदिर पहुंचेगी। महाकालेश्वर मंदिर प्रबंध समिति ने श्रद्धालुओं से आग्रह किया है कि कोरोना संक्रमण के मद्देनजर वे सवारी देखने के लिये घरों से बाहर न निकलें।

खंडवा। सोमवती अमावस्या पर ओंकारेश्वर में नर्मदा घाट सूने पड़े हैं। प्रशासन ने कोरोना संक्रमण रोकने के लिए नर्मदा स्नान प्रतिबंधित किया है। ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग के दर्शन के लिए भी पंजीयन अनिवार्य किया गया है।

Leave a Reply