Now Reading
विकास के दो साथी ग्वालियर में रुके थे,संरक्षक गिरफ्तार

विकास के दो साथी ग्वालियर में रुके थे,संरक्षक गिरफ्तार

ग्वालियर । कानपुर के बिकरू गाँव मे लोमहर्षक तरीके से पांच पुलिसकर्मियों की हत्या करके फरार हुए और फिर मप्र के उज्जैन में नाटकीय ढंग से सरेंडर होने के बाद कानपुर के पास एक कथित मुठभेड़ में मारे गए पांच लाख के इनामी बदमाश विकास दुबे के मारे जाने के बाद अब पुलिस उन बाकी बदमाशो की तलाश में जुटी है जो या तो बिकरू कांड में विकास के साथ थे त फिर उन्हें संरक्षण देते रहे । इस मामले में कानपुर पुलिस ने दो लोगो की ग्वालियर से गिरफ्तारी का दावा किया है जबकि ग्वालियर पुलिस ने इससे अनभिज्ञता प्रकट की है । 
कानपुर की चौबेपुर थाना पुलिस ने एक प्रेस नोट जांरी कर बताया है कि बिकरू हत्याकांड में शामिल नामजद इनामी आरोपी शशिकांत पांडे और शिवम दुबे हत्याकांड के बाद भागकर ग्वालियर आया था और यहां भगतसिंह नगर थाना गोला का मंदिर निवासी ओम प्रकाश पांडे और सागरताल के पास निवासी अनिल पांडे ने इनको शरण दी थी । पुलिस ने जब तक इनके यहां दबिश दी तब तक ये भाग निकले लेकिन कानपुर पुलिस प्रेम और अनिल को पकड़ ले गई और इन्हें संरक्षण देने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया ।
इस मामले में फिलहाल ग्वालियर पुलिस पूरी तरह अनभिज्ञ बनी हुई है । ग्वालियर ज़ोन के एडीजी राजबाबू सिंह का कहना है कि यहां पुलिस को ऐसी कोई जानकारी नही है । मीडिया के जरिये जानकारी मिली है । वे सूचना की तस्दीक करवा रहे है ।
गौरतलब है कि कानपुर जिले के चौबेपुर थाना इलाके के बिकरू गाँव मे बदमाश विकास दुबे को पकड़ने गई पुलिस पार्टी पर बदमाशों ने हमला का दिया था और नृशंसतापूर्वक गोलियां चलाईं थी जिंसमे एक डीएसपी सहित आठ पुलिस कर्मी शाहिद हो गए थे । बताया गया कि इस हत्याकांड में तीस बदमाश शामिल थे । जिनमें से चार को पुलिस मार चुकी थी जबकि पुलिस की घेरबंदी को चुनौती देते हुए विकास दुबे उज्जैन पहुंच गया था । उसने महाकाल के दर्शन करने के बाद खुद को आत्मसमर्पण कर दिया था । उज्जैन पुलिस ने उसे कानपुर पुलिस को सौंप दिया था लेकिन बाद में कानपुर के नजदीक उसे कथित मुठभेड़ में मार दिया । हालांकि पुलिस की यह कथित मुठभेड़ सवालों के घेरे में है ।
ये थी कानपुर पुलिस की प्रेस रिलीज

थाना चौबेपुर पर दिनांकः 03.07.2020 को पंजीकृत मु0अ0स0 192/20 धारा 147/148/149/302/307/394/120बी भादवि0 व 7 सीएलए एक्ट जो 08 पुलिसकर्मियों के शहीद होने से सम्बन्धित है, में वांछित 5 लाख रु0 का इनामियां अभियुक्त *विकास दुबे* पुत्र राम कुमार दुबे नि0 बिकरू थाना चौबेपुर कानपुर नगर को उज्जैन, मध्य प्रदेश पुलिस द्वारा गिरफ्तार किये जाने के पश्चात पुलिस व एसटीएफ टीम द्वारा दिनांक 10.07.2020 को कानपुर नगर लाया जा रहा था।

कानपुर नगर भौंती के पास पुलिस का उक्त वाहन दुर्घटना ग्रस्त होकर पलट गया, जिससे उसमें बैठे अभियुक्त व पुलिसजन घायल हो गये। इसी दौरान अभि0 विकास दुबे उपरोक्त ने घायल पुलिस कर्मी की पिस्टल छीन कर भागने की कोशिश की। पुलिस टीम द्वारा पीछा कर उसे घेर कर आत्मसमर्पण करने हेतु कहा गया किन्तु वह नहीं माना और पुलिस टीम पर जान से मारने की नियत से फायर करने लगा पुलिस द्वारा आत्मरक्षार्थ जवाबी फायरिंग की गयी जिसमे विकास दुबे घायल हो गया।दुबे को तत्काल ही ईलाज हेतु अस्पताल ले जाया गया, जहां इलाज का दौरान अभियुक्त विकास दुबे की मृत्यु हो गयी।

View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll To Top