Now Reading
ग्वालियर के पास था विकास दुबे का मूवमेंट, पुलिस की बड़ी चूक से निकल गया

ग्वालियर के पास था विकास दुबे का मूवमेंट, पुलिस की बड़ी चूक से निकल गया

ग्वालियर। ‘मैं, विकास दुबे हूं कानपुर वाला’ उज्जैन महाकाल मंदिर परिसर में पहुंचकर गैंगस्टर विकास दुबे ने इस तरह खुद को वहां होने की घोषणा शोर मचाकर की। उसके उज्जैन पहुंचने से  पुष्टि हो जाती है कि उसका ग्वालियर और उसके आसपास के जिलों में मूवमेंट था। वह लगातार यहां सक्रिय था और मुरैना, ग्वालियर, शिवपुरी, अशोक नगर गुना के रास्ते उज्जैन पहुंचने की आशंका है। यहां की पुलिस के लिए यह बड़ी चूक है। ग्वालियर-चंबल पुलिस के दावों और इंटेलीजेंस की पोल भी खोल रहे हैं कि वह कितना अलर्ट थी। कई सवाल खड़े हो गए हैं, जिनके जवाब फिलहाल पुलिस के किसी भी अफसर के पास नहीं है।

2 दिन ग्वालियर में रुकने की खबर से हो रही है किरकिरी

फरीदाबाद के एक होटल में विकास दुबे की सूचना पर जब फरीदाबाद क्राइम ब्रांच ने दबिश दी तो विकास तो वहां से बचकर निकल गया था पर उसके दो मददगार पकड़े गए थे। होटल व उसके आसपास विकास के फुटेज मिले थे। वहां से खुलासा हुआ था कि विकास 2 दिन ग्वालियर में रहा था। इसके बाद से यहां की पुलिस हाई अलर्ट पर थी। इसके बाद भी फरीदाबाद से वापस विकास इसी रास्ते होते हुए उज्जैन पहुंच गया और सरेंडर कर दिया। ग्वालियर-चंबल अंचल की पुलिस के लिए यह बहुत सवाल खड़े करने वाली बात हो गई है।

भिंड के एक बदमाश, ग्वालियर के रिश्तेदार की तलाश

इंटेलीजेंस को इनपुट भी मिला था कि भिंड के एक बदमाश के साथ उसने जेल में कुछ समय गुजारा था। साथ ही ग्वालियर में उसका एक रिश्तेदार भी था जिससे उसकी मदद की। पर पुलिस अभी तक उनको भी तलाश नहीं कर पाई। इस पर आईजी चंबल मनोज कुमार शर्मा, आईजी ग्वालियर जोन राजाबाबू सिंह सिर्फ दावा ही करते रह गए थे।

View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll To Top