Saturday, January 16, 2021
ताज़ातरीनराज्य

दूसरे अस्पताल में शिफ्ट करते वक्त हुई कोरोना मरीज की मौत तो सड़क किनारे शव छोड़कर भागा एंबुलेंस ड्राइवर

भोपाल: मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है. यहां पर कोरोनावायरस से जान गंवाने वाले शख्स का शव एक अस्पताल के बाहर सड़क किनारे छोड़ देने का मामला सामने आया है. सोमवार को यहां एक हॉस्पिटल के बाहर एक मरीज की मौत हो गई थी. मौत से पहले मरीज को दूसरे अस्पताल में शिफ्ट करने के लिए ले जाया जा रहा था. लेकिन मौत हो जाने के बाद  एंबुलेंस का ड्राइवर शव को वहीं जमीन पर छोड़कर भाग खड़ा हुआ.

बता दें कि 59 साल के वाजिद अली को किडनी में समस्या के चलते भोपाल के पीपुल्स अस्पताल में भर्ती कराया गया था. लेकिन पिछले कुछ दिनों में उन्हें सांस संबंधी परेशानियां आने लगीं. डॉक्टरों को आशंका हुई कि उन्हें न्यूमोनिया हो गया है. सोमवार की शाम उनके कोरोनावायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हो गई. कोरोना सामने आने के बाद उन्हें कोविड-19 के लिए निर्धारित किए गए चिरायु अस्पताल में शिफ्ट किया गया था.  आरोप है कि उनकी मौत होने के बाद एंबुलेंस ड्राइवर, जिसे उन्हें दूसरे अस्पताल में शिफ्ट कराने ले जाना था, वो शव को वहीं सड़क किनारे जमीन पर छोड़कर भाग गया.

उनके बेटे आबिद अली ने  बताया कि उनके पिता का सैंपल रविवार को कलेक्ट किया गया था, जो सोमवार को पॉजिटिव निकला. उनकी तबियत जनवरी से ही खराब थी. पीपुल्स अस्पताल में उनको 23 जून को भर्ती कराया गया था. जब उन्हें इस अस्पताल से शिफ्ट किया गया था वो अभी जिंदा थे. आबिद ने कहा, ‘मुझे नहीं पता कि एंबुलेंस में क्या हुआ लेकिन जब जिला प्रशासन को उन्हें चिरायु में शिफ्ट करना था और एंबुलेंस भी भेजा, तो उन्हें सड़क पर ऐसे छोड़ क्यों दिया? इसमें दोनों अस्पतालों की गलती है, उन्होंने हमें कोई जानकारी नहीं दी.’

Leave a Reply