Tuesday, October 20, 2020
ताज़ातरीनराज्य

ग्वालियर से रूठा प्री मानसून: बारिश नहीं होने से रेड जोन में शामिल

 

गर्मी बढ़ने के कारण लोग हुए परेशान

ग्वालियर।

शहर प्री मानसून की बारिश नहीं होने से रेड जोन में आ गया है। अबतक सामान्य  से 34 फीसद कम पानी बरसा है। प्रदेश के सभी जिलों से बारिश की तुलना की जाए तो ग्वालियर व भिंड में कम पानी बरसा है। जिसकी वजह से गर्मी बढ़ने लगी है। गुरुवार को अधिकतम तापमान 43.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ, जो सामान्य से 2.2 अधिक रहा। उमस भरी गर्मी ने पसीना-पसीना कर दिया। मौसम विभाग के अनुसार अगले 24 घंटे में बादल छाने के साथ-साथ हल्की बारिश की संभावना है।

इस बार मानसून अपने निर्धारित समय से चल रहा था। प्रदेश के 60 फीसद हिस्से में समय पर सक्रिय हो गया और भारी बारिश भी कर रहा है, लेकिन ग्वालियर-चंबल संभाग में यह लेट होने लगा है। 19 से 20 जून के बीच इसके आने की संभावना थी, लेकिन यह सिस्टम कमजोर पड़ गया। इस कारण मानसून लेट होने लगा है। राजस्थान का तापमान बढ़ने से जिले में गर्मी बढ़ने लगी है। मानसून ट्रफ लाइन की वजह से 22 जून को बारिश की संभावना बन रही है, लेकिन ट्रफ लाइन भारी बारिश नहीं करा पाएगी। इस बारिश के बाद अंचल में मानसून की घोषणा होगी। मानसून के आने तक शहरवासियों को उमसभरी गर्मी का सामना करना पड़ेगा। वहीं दूसरी ओर बारिश का कोटा भी पिछड़ रहा है। एम्फान तूफान की बारिश की वजह से सामान्य से ज्यादा बारिश हो चुकी थी, लेकिन प्री मानसून सक्रिय न होने से सामान्य से नीचे चली गई। ग्वालियर व भिंड जिला रेड जोन में आ गया है। शेष प्रदेश के जिलों में सामान्य से ज्यादा पानी बरस चुका है। दोनों संभाग में मुरैना में सबसे ज्यादा बारिश हुई है। यहां पर सामान्य से 150 फीसद बारिश हो चुकी है।

राजस्थान की वजह से बढ़ रही गर्मी

पूर्वी उत्तर प्रदेश में एक चक्रवात बना हुआ है, जिसका झुकाव दक्षिण मध्य प्रदेश की ओर रहा। जिसकी वजह से दक्षिण मध्य प्रदेश में भारी बारिश हो रही है। हमारे यहां आने वाली हवा में नमी की मात्रा घट गई है। वहीं राजस्थान में तापमान बढ़ रहा है। राजस्थान में बढ़ रही गर्मी की वजह से हमारे यहां गर्मी हो रही है।

Leave a Reply