Tuesday, October 27, 2020
ताज़ातरीनराज्य

शुभ संकेत: प्रदेश में एक दिन पहले दस्तक देगा मानूसन

भोपाल। दक्षिण-पश्चिम मानसून तेजी से आगे बढ़ रहा है। मौसम विज्ञानियों ने रविवार को मानसून के मप्र के दक्षिणी इलाके से दाखिल होने की संभावना जताई है। साथ ही रविवार से प्रदेश के दक्षिण-पश्चिम क्षेत्र में अच्छी बरसात का सिलसिला शुरू हो जाएगा। ज्ञात हो कि केंद्र के मौसम विभाग ने पिछले माह मप्र में मानसून के आगमन की अनुमानित तिथि 15 जून तय की है। इसके पूर्व लंबे समय से यह तारीख 10 जून निर्धारित थी। उधर शनिवार को सतना में 32, उमरिया में 23, छिंदवाड़ा में 11, सीधी में 9, पचमढ़ी में 3 मिमी. बरसात हुई।

मौसम विज्ञान केंद्र के प्रवक्ता के मुताबिक मानसून मध्य महाराष्ट्र के कुछ और हिस्से, विदर्भ के अधिकांश क्षेत्र, छत्तीसगढ़ के कुछ और भाग, उड़ीसा, पश्चिम बंगाल, झारखंड के अलावा बिहार के कुछ हिस्सों में आगे बढ़ गया है। रविवार को मानसून मध्य अरब सागर, उत्तरी अरब सागर के कुछ हिस्से, मुंबई, छत्तीसगढ़ के कुछ और हिस्से, झारखंड, बिहार के कुछ और भाग दक्षिणी गुजरात तथा दक्षिणी मध्य प्रदेश तक पहुंचेगा। उत्तरी उड़ीसा में ऊपरी भाग में एक चक्रवात बना है। जो 7.6 किलोमीटर की ऊंचाई तक स्थित होने के साथ ही दक्षिण पूर्व दिशा की ओर झुका हुआ है।

पूर्व पश्चिम शियर जोन (विपरीत दिशाओं का टकराव) उत्तरी अक्षांश में 3.1 किलोमीटर से 5.8 किमी. तक की ऊंचाई तक बना हुआ है। उत्तर-पश्चिम राजस्थान से एक द्रोणिका लाइन (ट्रफ) उत्तर उड़ीसा के बीच बनी हुई है। यह ट्रफ उत्तरी मप्र एवं उत्तरी छत्तीसगढ़ से होकर गुजर रही है। इन सिस्टमों के कारण मानसून तेजी से आगे बढ़ रहा है।

Leave a Reply