Now Reading
फुटबॉल का प्रशिक्षण देने के बहाने बुलाकर कोच ने किया दुष्कर्म

फुटबॉल का प्रशिक्षण देने के बहाने बुलाकर कोच ने किया दुष्कर्म

हरदा।

कोरोना के संक्रमण लोगों को बचाने जब पूरे देश में लॉकडाउन थे। इस दौरान फुटबॉल के कोच ने एक नाबालिग को प्रशिक्षण देने के बहाने बुलाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। आरोपित कोच ने जुर्म भी कुबूल कर लिया, पुलिस ने उसे जेल भेज दिया है। खास बात यह है कि इस कोच के पास प्रशिक्षण देने के लिए न तो कोई डिग्री है और ना ही लॉकडाउन में उसने प्रशासन से अनुमति ली थी।

विगत दिनों शहर के रहने वाले फुटबाल के कोच शिक्षक दीपक पुरबिया ने फुटबॉल में हवा भरने के बहाने से एक नाबालिग से 24 मई को दुष्कर्म किया था। इसके बाद बीते मंगलवार को नाबालिग ने थाने में मामला दर्ज कराया था। पुलिस ने नाबालिग के परिजनों की शिकायत पर विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। थाना प्रभारी उमेंद्र सिंह राजपूत ने बताया कि आरोपित दीपक पुरबिया द्वारा जुर्म कबूल कर लिया है। उसे न्यायालय में पेश किया गया, जहां से आरोपित को जेल भेज दिया गया है। इधर शहर सहित जिले भर में दीपक पुरविया शहर के एक निजी स्कूल में बच्चों को खेल का प्रशिक्षण देता था, लेकिन उसके पास कोई भी खेल शिक्षा की डिग्री नहीं है।

तथाकथित फुटबॉल कोच के रूप में यह बच्चों को नेहरू स्टेडियम पर फुटबॉल का प्रशिक्षण देता था। हालांकि इसके पहले आरोपित का कोई भी मामला सामने नहीं आया है। इधर शिक्षा विभाग ने अब हरकत में आ गया है। तथाकथित फुटबॉल कोच दीपक पुरबिया द्वारा दुष्कर्म करने के मामला सामने आने के बाद शिक्षा विभाग के डीईओ देवेंद्र रघुवंशी ने बताया कि जिले के समस्त निजी स्कूलों से खेल शिक्षकों की जानकारी मांगी जाएगी। साथ ही स्कूलों से खेल शिक्षकों का चरित्र सत्यापन भी मांगा जाएगा।

View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll To Top