Wednesday, October 21, 2020
ताज़ातरीनराज्य

गुटखा तस्कर माटा के करीबी पान मसाला कारोबारियों पर डीजीजीएसटीआई ने की छापामार कार्रवाई

इंदौर. नकली गुटखे का अवैध करोबार कर सरकार को करोड़ों रुपए की चपत लगाने वाले आरोपी संजय माटा की निशानदेही पर डायरेक्टर जनरल ऑफ गुड्स एंड सर्विसेस इंटेलिजेंस (डीजीडीएसआई) ने इंदौर और उज्जैन के कुछ गुटखा पान मसाला कारोबारियों के ठिकानों पर छापामार कार्रवाई की। डीजीडीएसआई द्वारा 14 ठिकानों पर कार्रवाई को अंजाम दिया गया है। इस दौरान कुछ संदिग्ध लोगों को हिरासत में भी लिया गया है जिनसे पूछताछ की जा रही है।

डायरेक्टोरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलीजेंस (डीआरआई) और डायरेक्टर जनरल ऑफ गुड्स एंड सर्विसेस इंटेलिजेंस (डीजीडीएसआई) द्वारा 30 मई 2020 को माट के इंदौर स्थित कई ठिकानाें पर छापामार कार्रवाई को अंजाम दिया गया था। छापे में यह बात सामने आई कि गुरुनोमल माटा के बेटे संजय और संदीप ने कई बड़े ब्रांड के पान-मसाले का 30 करोड़ से अधिक का माल बिना बिल बेचा है। जांच में माटा परिवार द्वारा 8 करोड़ से ज्यादा की टैक्स चोरी सामने आई है। सूत्रों का कहना है कि कर चोरी का आंकड़ा बढ़ने की पूरी संभावना है। 5 करोड़ से अधिक की टैक्स चोरी होने के चलते जीएसटी एक्ट के तहत डीजीजीएसटी ने संजय माटा को गिरफ्तार कर विशेष न्यायाधीश विजेंद्र सिंह रावत की कोर्ट में पेश किया था, जहां से 17 जून तक के लिए जेल भेज दिया गया है। जबकि संदीप अभी तक फरार है। इनकी फर्म एसएस इंटरप्राइजेज के संबंध में जांच चल रही है।

पूछताछ में संजय माटा से मिली जानकारी के आधार पर इंदौर के सियागंज, लोहामंडी, राजेन्द्र नगर, पालदा सहित अन्य क्षेत्रों में स्थित गोदामों और फर्मों पर छापामार कार्रवाई की गई। इसके अलावा उज्जैन में मीठी सुपारी बनाने वाली एक फर्म पर भी छापा मारा गया। यह फर्म पान मसाला की ट्रेडिंग करती है। सूत्रों के अनुसार एक दर्जन फर्म ऐसी मिली जिनका माटा की 6 फर्म से लेन-देन सामने आया है। कुछ ट्रांसपोर्टर्स पर भी कार्रवाई की गई है।

Leave a Reply