Now Reading
बोर्ड की परीक्षा/ प्रवेश पत्र के बाद भी कुछ छात्र रोल नंबर नहीं मिलने से परेशान हुए

बोर्ड की परीक्षा/ प्रवेश पत्र के बाद भी कुछ छात्र रोल नंबर नहीं मिलने से परेशान हुए

ग्वालियर/भोपाल. एमपी बोर्ड की 12वीं कक्षा के बचे हुए पेपरों की परीक्षाएं आज से शुरू हो गईं। इसमें शामिल हो रहे प्रदेशभर के करीब साढ़े 8 लाख छात्रों के लिए 4 हजार केंद्र बनाए गए हैं। भोपाल के शासकीय सुभाष उच्चतर माध्यमिक उत्कृष्ट स्कूल शिवाजी नगर में परीक्षा शुरू होने के डेढ़ घंटे पहले ही छात्र-छात्राएं पहुंच गए।सबके चेहरे पर मास्क और हाथ में सैनिटाइजर की बोतल नजर आई। हालांकि, इस दौरान कुछ छात्र केंद्र में रोल नंबर नहीं मिलने के कारण परेशान भी होते दिखे। प्रबंधन द्वारा स्कूल के बाहर छात्रों का रोल नंबर और उसके सामने उनके बैठने वाले रूम की जानकारी का एक बोर्ड लगाया गया था। थर्मल स्क्रीनिंग करने के बाद छात्रों को केंद्र में प्रवेश दिया गया। इस बार शिक्षकों की कम संख्या में ड्यूटी लगाई गई। सिर्फ गेट पर ही एक अधिकारी और शिक्षक बच्चों की मदद के लिए खड़े हैं। इससे पहले हर परीक्षा रूम में कम से कम दो शिक्षकों की ड्यूटी लगाई जाती रही है।

कुछ छात्र पेपर देने बैग लेकर पहुंचे, तो स्कूल के अलग कमरे में बैग रखवा दिए गए। इसके साथ छात्रों को अगले पेपर में अपने साथ बैग नहीं लगाने की सलाह दी गई। बच्चों को सिर्फ सैनिटाइजर, ग्लब्ज, मास्क, पानी की बोतल और परीक्षा के लिए पेन आदि के रखने की ही अनुमति है।स्कूल के गेट पर ही छात्रों की लाइन लगवाई गई। छात्रों के हाथ सैनिटाइज कराने के बाद उनकी थर्मल स्क्रीनिंग की गई। शरीर का तापमान सामन्य आने के बाद ही उन्हें प्रवेश दिया। कोरोना लक्षण वाले छात्रों को सामान्य बच्चों से दूर दूसरे कमरों में बैठने की व्यवस्था भी की गई है। सोशल डिस्टेंसिंग समेत अन्य बातों का पालन करने के लिए सुरक्षा गार्ड और शिक्षकों द्वारा लगातार बच्चों को बताया गया।

View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll To Top