Monday, October 26, 2020
ताज़ातरीनराज्य

कोरोना से मृत्यु दर पर सीएम चिंतित, अफसरों से कहा-इसे नियंत्रित करें

कोरोना संक्रमण के कारण इंदौर में पॉजिटिव मरीजों की मृत्यु दर 4.16 प्रतिशत हो चुकी है। इसे लेकर मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने भी चिंता जाहिर की है। सोमवार को कोरोना से बचाव की समीक्षा बैठक में मृत्यु दर का मुद्दा उठा तो मुख्यमंत्री ने इसे गंभीरता से लिया।

उन्होंने आला अधिकारियों से कहा कि इसे हर हाल में नियंत्रित किया जाए। इंदौर में कोरोना से रिकवरी की दर भले ही बेहतर हुई हो, लेकिन मृत्यु दर पर नियंत्रण जरूरी है। कलेक्टर कार्यालय के एनआइसी रूम में वीडियो कॉन्फे्रंसिंग से इंदौर जिले सहित राज्यस्तरीय समीक्षा की गई।

मुख्यमंत्री ने बुरहानपुर, खरगोन, भिंड, श्योपुर आदि जिलों में जहां संक्रमण की दर बढ़ी हुई है, वहां भोपाल से टीम भेजकर विस्तृत कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए। साथ ही कार्ययोजना के अनुरूप काम करने के लिए कहा। बैठक में इंदौर के प्रभारी और जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट, चिकित्सा शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव संजय शुक्ला, संभागायुक्त डॉ. पवन शर्मा, जनसंपर्क आयुक्त सुदाम पी खाड़े, कलेक्टर मनीष सिंह आदि मौजूद थे।इंदौर में आज तक 48 हजार 6 सैंपलों की जांच की जा चुकी है। इसके आधार पर यहां औसत आठ फीसद की दर से कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए हैं, जबकि केवल इस सप्ताह के आंकड़े देखें तो यह दो फीसद ही है। इससे जाहिर होता है कि इंदौर में स्थिति काफी हद तक सुधर रही है। पॉजिटिव मरीजों की रिकवरी और डिस्चार्ज होने की दर 65 फीसदी के आसपास पहुंच गई है।

Leave a Reply