Wednesday, October 28, 2020
ताज़ातरीनराज्य

बाजार में नहीं पहुंच रहे ग्राहक, व्यापारी बोले अब जल्द बंद होना चाहिए पूरा बाज़ार

 

 

ग्वालियर। कोराना महामारी के चलते लगे लॉक डाउन में छूट मिलने के बाद भी व्यापारियों की मुश्किलें कम नहीं हो रही है जिसके चलते अब व्यापारी शाम को जल्द बाज़ार बंद करने पर विचार कर रहे हैं।नौतपा में दुकानें शाम 7 बजे तक खोलने के आदेश थे। जबकि व्यापारियों की शिकायत थी कि दोपहर में गर्मी के कारण ग्राहकी नहीं होती। शाम को ग्राहक आना शुरू होते हैं तो दुकान बंद करने का समय आ जाता है। अब जब प्रशासन ने रात 9 बजे तक बाजार खोलने की अनुमति दे दी है तो दुकानदार पीछे हटते दिखाई दे रहे हैं। सराफा कारोबारी, राजीव प्लाजा, जयेंद्रगंज, दाल बाजार समेत अन्य बाजारों के व्यापारी रात 9 बजे तक अपनी दुकानें खोलना नहीं चाहते। इसके लिए वे सर्वसम्मति बनाने की कोशिश कर रहे हैं, ताकि एक साथ शहर की सभी दुकानें बंद रहें व किसी का विशेष नुकसान न हो।

टोपी बाज़ार के व्यापार प्रतिनिधि का कहना है कि उम्मीद थी कि शाम 7 बजे से समय आगे बढ़ाने से व्यापार अधिक होगा लेकिन ऐसा होता दिखाई नहीं दे रहा है। शहर में बढ़ते कोरोना मरीजों को देखते हुए सतर्कता बरतना ही जरूरी है।-वहीं किराना कारोबारियों का कहना है कि-दालबाजार को रात तक खोलने की जरूरत ही नहीं हैं। खेरिज व थोक दुकानदारों के लिए अलग-अलग समय निश्चित किया जाना भी जरूरी है। जिससे कि शारीरिक दूरी का पालन व कोरोना से बचाव हो सके।

दरअसल रात 9 बजे तक दुकानें खुलने पर भी खास व्यापार नहीं हो रहा है। दुकानदारों का कहना है कि जितनी ग्राहकी होना होती है शाम 7 बजे तक हो जाती है, फिर केवल घूमने वाले लोग ही उनके यहां पहुंचते हैं। इसके साथ ही शहर में लगातार बढ़ते कोरोना मरीजों की संख्या से भी व्यापारी घबरा रहे हैं। व्यापारियों का कहना हैं कि हमें शाम 7 बजे तक अपनी दुकान बंद कर घर पहुंच जाना ही बेहतर लग रहा है।

Leave a Reply