Sunday, October 25, 2020
ताज़ातरीनराज्य

शीतल जल, पंखा, फल, रस, मिट्टी का मटका और सत्तू दान कर मनाया गंगा दशहरा पर्व

 

ग्वालियर

आज हस्त नक्षत्र एवं सिद्धि योग में गंगा दशहरे का पर्व धूमधाम से मनाया जा रहा है। गंगा दशहरे पर हस्त नक्षत्र पूरे दिन रहेगा। इस दिन लोग शीतल जल, पंखा, फल, रस, मिट्टी का मटका और सत्तू दान करते हैं।

ज्योतिषाचार्य मनोज के अनुसार जयेष्ठ शुक्लपक्ष दशमी को हस्त नक्षत्र में गंगा का पृथ्वी पर अवतरण हुआ था। इस दिन श्रद्घालु अपने पापों से मुक्ति के लिए पवित्र गंगा में स्नान करते हैं। लेकि न लॉकडाउन के कारण अभी आवागमन के साधन बंद हैं। ऐसे में लोग अपने घरों में पानी के गंगा जल मिलाकर स्नान कर गंगा स्नान का पुण्यलाभ प्राप्त करेंगे। गंगा दशहरे पर स्नान, व्रत रखकर दान पुण्य करने से पूर्व जन्मों के भी दस प्रकार के पापों से मनुष्य को मुक्ति मिल जाती है। साथ ही इस कार्य से पूर्वज भी प्रसन्न होते हैं, इसलिए इसका नाम गंगा दशहरा भी है। इस दिन भक्त शीतल जल, पंखा, फल, रस, मिट्टी का मटका और सत्तू दान करते हैं

Leave a Reply