Now Reading
लॉक डाउन 4,,,,,, व्यापार फिर से पटरी पर आने की उम्मीद,प्रशासन को हर तरह की मदद देने का भरोसा

लॉक डाउन 4,,,,,, व्यापार फिर से पटरी पर आने की उम्मीद,प्रशासन को हर तरह की मदद देने का भरोसा

 

पंकज श्रीमाली की रिपोर्ट
ग्वालियर। विश्वव्यापी कोरोना महामारी के चलते पिछले 50 दिनों से आर्थिक मार झेल रहे शहर के व्यापारियों कवर ब्लॉक डाउन 4 की चिंता सता रही है कल से लागू होने वाले लोक डांस और मैं किस तरह की रियायतें मिलेंगी इसको लेकर व्यापारियों में कानाफूसी का दौर भी तेज हो गया व्यापारियों का कहना है की सरकार को लोक डाउन 4 में व्यापारियों को और अधिक रायते देनी चाहिए जिससे उनके व्यापार की गाड़ी फिर से पटरी पर आ सके इसके लिए व्यापारी सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों से लेकर हर तरह की मदद के लिए तैयार भी हैं।
22 मार्च के बाद लागू योगदान के कारण देश की व्यापार व्यवस्था पूरी तरह चौपट हो चुकी है और लोगों के सामने आर्थिक संकट खड़ा हो गया है देशभर में प्रवासी मजदूर मजदूर जहां पलायन करने को मजबूर हैं वहीं दुकान बंद रहने के कारण व्यापारियों के सामने भी आर्थिक संकट खड़ा हो गया है ऐसे में व्यापारियों को उम्मीद है कि 18 मई से लागू होने वाले लॉक डाउन फॉर में व्यापारियों को थोड़ी राहत दी जाएगी जिससे सभी वर्गों के व्यापारी अपने अपने व्यापार को पटरी पर ला सकें।

बाजारों में जगह जगह दिखे व्यापारियों के जमघट

रविवार को लॉक डाउन 3 के अंतिम दिन शहर में मुख्य बाजारों के कई इलाकों में जगह-जगह व्यापारियों के जमघट भी देखने को मिले या ज्यादातर इलाकों में व्यापारी 18 मई से लागू होने वाले लोक डाउन 4 की चिंता मैं डूब कर इस पर मंथन करते नजर आए।

जिन बाजारों में साफ सफाई हुई वहां दुकानें खोलने की पूरी तैयारी

जिला प्रशासन द्वारा विगत चार रोज से शहर के अलग-अलग बाजारों में व्यापारियों को दुकानों की साफ सफाई करने और मेंटेनेंस की छूट दी जा रही है जिसके बाद व्यापारियों ने सुबह 2:00 से 3 घंटे तक अपनी दुकान खोल कर साफ-सफाई को अंजाम दिया। ऐसे में लोक डाउन 4:00 के लिए व्यापारियों ने पूरी तैयारी कर ली है और अगर उन्हें अनुमति मिलती है तो वह अपनी दुकान खोलने के लिए तैयार हैं।

निगम और बिजली अधिकारी भी वसूली की तैयारी में जुटे,,,,,,,,,,
विगत लंबे समय से लागू लोक डाउन के कारण नगर निगम संपत्ति कर की वसूली नहीं कर पाया है तो वही बिजली कंपनी कीवी वसूली अटकी पड़ी है ऐसे में लॉक डाउन फॉर में अगर बाजार खोलने की अनुमति मिलती है तो निगम एवं बिजली कंपनी के अधिकारी भी वसूली का टारगेट पूरी करने के लिए अपनी तैयारी में जुटे हुए हैं और दुकानें खुलते ही बाजारों में वसूली प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी

View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll To Top