Wednesday, October 28, 2020
ताज़ातरीनराज्य

चम्बल अंचल में 32 हजार से अधिक मजदूर लौटे अपने गृह जिले में

 

मुरैना । चम्बल संभाग में प्रदेश के अन्य जिलों एवं अन्य राज्यों के अन्य जिलों में फंसे मजदूरों में से अभी तक 32 हजार 493 प्रवासी मजदूर अपने-अपने गृह जिलों में आ गये है। इनमें सर्वाधिक 14 हजार 385 प्रवासी मजदूर मुरैना जिले में आये। भिण्ड जिले में 12 हजार 15 और श्योपुर जिले में 6 हजार 93 मजदूर आयें है।
चम्बल संभाग मुरैना, भिण्ड और श्योपुर जिलों से प्राप्त जानकारी के अनुसार मुरैना जिले में अभी तक प्रदेश के अन्य जिलों एवं अन्य राज्यों से 14 हजार 385 प्रवासी श्रमिक आए हैं, जिनमे सभी का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया है। मध्यप्रदेश के अन्य जिलों से मुरैना में 8 हजार 625 एवं देश के अन्य राज्यों से 6 हजार 733 प्रवासी श्रमिक जिले में आयें हैं। इसके अलावा अन्य राज्यों एवं जिलों से मुरैना जिले की सीमा से होकर गुजरने वाले 17 हजार 742 लोंगो की स्क्रीनिंग की गई। इसके अलावा 9 हजार 117 लोंगो को मुरैना से स्क्रीनिंग करके प्रदेश के अन्य जिलों के लिये बसों द्वारा रवाना किया गया।
भिण्ड जिले में अभी तक 12 हजार 15 प्रवासी मजदूर आये
भिण्ड जिले में अभी तक प्रदेश के अन्य जिलों एवं अन्य राज्यों से 12015 श्रमिक आए हैं जिनमे सभी का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया है। प्रदेश के अन्य जिलों से भिण्ड में 7060 एवं देश के अन्य राज्यों से 4955 ,कुल 12015 श्रमिक जिले में आयें हैं।
श्योपुर जिले में अन्य राज्यों से आयें 6093 मजदूर
श्योपुर जिले में मप्र के अलावा अन्य राज्यों से 6093 मजदूर 11 मई 2020 तक आ चुके है। इसके बावजूद भी राजस्थान के अलावा अन्य राज्यों से मजदूरों का आगमन जारी है। जिसमें श्योपुर जिले के 2490 एवं मप्र के विभिन्न जिलों के 3603 कुल 6093 मजदूर आ चुके है। जिनको जिला प्रशासन द्वारा श्योपुर के साथ प्रदेश के विभिन्न जिलों में आवश्यक सुविधाओं सहित बस के माध्यम से भेजने की व्यवस्था सुनिश्चित की जा चुकी है।
कलेक्टर श्री राकेश कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि मप्र के प्रवासी मजदूरों को प्रदेश के विभिन्न जिलों में 28 अपै्रल से 11 मई 2020 तक श्योपुर जिले के बाॅर्डर सामरसा पर सभी सुविधाएं प्रदान की जाकर उनके घर बस से पहुंचाने की कार्यवाही सुनिश्चित की गई है। जिसमें प्रवासी मजदूर श्योपुर के 2490, झाबुआ के 87, बालाघाट के 06, बैतुल का 01, कटनी के 66, मण्डला के 03, मुरैना के 57, भिण्ड के 918, सिवनी के 51, डिण्डौरी के 452, छिंदवाडा का 01, विदिशा के 14, पन्ना के 262, रीवा के 18, शहडोल के 44, शाजापुर के 10, शिवपुरी के 196, सीधी के 71 मजदूरों को सभी सुविधाएं प्रदान की जाकर बस के द्वारा उनके घर पहुंचाये जा चुके है।
इसी प्रकार सतना के 33, उमरिया के 167, दमोह के 57, दतिया के 291, छतरपुर के 41, जबलपुर के 34, टीकमगढ के 65, आगर के 06, अनूपपुर के 08, ग्वालियर के 158, गुना के 225, अशोकनगर के 27, सागर के 43, सिंगरोली के 03, भोपाल के 25, देवास के 04, मदंसौर के 05, राजगढ के 03, इन्दौर के 09, उज्जैन के 09, पोरसा के 32 एवं धार का 01 इस प्रकार से कुल 6093 प्रवासी मजदूर श्योपुर जिले के बाॅर्डर पर आकर स्क्रीनिंग, भोजन, पानी, शौचालय की सुविधा के बाद बस के माध्यम से उनके घर पहंुचाने की व्यवस्था की जा चुकी है।

Leave a Reply