Tuesday, October 27, 2020
ताज़ातरीनप्रशासनराज्यस्वस्थ्य

ग्वालियर रेड झोंन में ,कैसे हुआ असमंजस ,सीएम ने नही लिया नाम

इंदौर,भोपाल,उज्जैन,जबलपुर,धार,बड़वानी,पूर्वी निमाड़,देवास और ग्वालियर रेड झोंन में शामिल

ग्वालियर रेड झोंन में ,कैसे हुआ असमंजस 

– प्रशासनिक संवाददाता-

ग्वालियर।  केंद्र सरकार द्वारा जारी की गई कोरोना संक्रमण जिलों के वर्गीकरण सूची में ग्वालियर का नाम रेड झोंन में शामिल होने से प्रशासन असमंजस में है और नागरिक चिंतित । अभी ग्वालियर ऑरेंज झोंन मे था और जल्द ही इसके ग्रीन झोंन में शामिल होने की संभावनाएं थी लेकिन उसे रेड झोंन में शामिल कर दिया गया ।
ग्वालियर में अभी तक कुल नौ कोरोना पॉजिटिव मरीज पाए गए हैं जिनमे से छह तो बहुत पहले ही स्वस्थ्य होकर अपने घर लौट चुके है । अभी ग्वालियर में तीन कोरोना संक्रमित है जिनका सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में इलाज चल रहा है । इनमे दो मरीज लगभग स्वस्थ्य है बस इनकी सेकंड सेम्पल टेस्टिंग होना है ।
लगातार येलो झोंन में शामिल ग्वालियर को आज अचानक रेड झोंन में शामिल होने से मिलने वाले छूट में कटौती होने की आशंका हो जाएगी । रेड झोंन में किसी तरह की रियायत नही दी जाती । लॉक डाउन का कड़ाई से पालन किया जाता है ।
मुख्यमंत्री ने नही लिया ग्वालियर का नाम
    केंद्र सरकार ने भले ही ग्वालियर जिले को रेड झोंन में डाल दिया हो लेकिन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रेड झोंन के जिलों में ग्वालियर का नाम नही लिया । राष्ट्रीय न्यूज चैनल एबीपी न्यूज़ द्वारा आन आयेजित शिखर सम्मेलन में उंन्होने कहाकि भोपाल,इंदौर,जबलपुर और उज्जैन हमारे यहां अभी रेड झोंन में हैं ।
न कोई मौत न आंकड़ा दस के पार
    पहले मीडिया में जो खबरें आई थी उनमें बताया गया था कि जिन जिलों में दस से कम संक्रमित मरीज होंगे उनको येल्लो झोंन में शामिल किया जाएगा । इससे अधिक संख्या वाले जिलों को रेड झोंन में रखा जाएगा । जिन जिलों में कोरोना संक्रमण का एक भी केस नही निकलेगा या शेष नही रहेगा उन्हें ग्रीन यानी कोरोना मुक्त झोंन में शामिल माना जायेगा ।

Leave a Reply