Tuesday, October 27, 2020
ताज़ातरीनप्रशासनराज्य

सांसद ने कहा जो लोग बाहर फंसे है उन्हें लाने की कार्ययोजना बनाएं

 

नोवेल कोरोना वायरस
क्राइसेस मैनेजमेंट के लिये कलेक्टर ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जनप्रतिनिधियों से की चर्चा
जनप्रतिनिधियों ने दिए महत्वपूर्ण सुझाव

ग्वालियर / नोवेल कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम हेतु लगाए गए लॉकडाउन के कारण ग्वालियर जिले में काफी हद तक संक्रमण की रोकथाम हुई है। लॉकडाउन के दौरान आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने हेतु लॉकडाउन में कुछ छूट भी दी जा रही है। आगामी दिनों में संक्रमण की रोकथाम हेतु सभी का सहयोग अपेक्षित है। कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से क्राइसेस मैनेजमेंट के संबंध में जिले के जनप्रतिनिधियों से चर्चा की। चर्चा के दौरान जनप्रतिनिधियों ने आवश्यक एवं महत्वपूर्ण सुझाव भी दिए। इन सुझावों के आधार पर जिले की आगामी रणनीति भी तैयार की जायेगी।
क्राइसेस मैनेजमेंट के लिये वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कलेक्ट्रेट के एनआईसी कक्ष से कलेक्टर ने जनप्रतिनिधियों से चर्चा की। इस मौके पर पुलिस अधीक्षक श्री नवनीत भसीन, नगर निगम आयुक्त श्री संदीप माकिन, सीईओ जिला पंचायत श्री शिवम वर्मा, एडीएम श्री किशोर कन्याल उपस्थित थे।
वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने क्षेत्रीय सांसद श्री विवेक नारायण शेजवलकर, पूर्व मंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, पूर्व विधायक श्री मुन्नालाल गोयल, पूर्व विधायक श्री रमेश अग्रवाल, भाजपा जिला अध्यक्ष श्री देवेश शर्मा, पूर्व मंत्री श्रीमती इमरती देवी के प्रतिनिधि से चर्चा कर उनके सुझाव जाने।
कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने हेतु किराना दुकानों, दूध विक्रेताओं, फल, सब्जी विक्रेताओं एवं दवाओं की दुकानों को छूट प्रदान की गई है। उन्होंने यह भी बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा लिए गए निर्णय के परिपालन में मध्यप्रदेश के जो श्रमिक अन्य प्रदेशों में हैं उन्हें वापस लाने का कार्य भी प्रारंभ किया गया है। इसके साथ ही अन्य प्रदेशों एवं अन्य जिलों के लिये आने-जाने की अनुमति भी ऑनलाइन प्रारंभ कर दी गई है। आने वाले दिनों में मुख्य बाजारों को छोड़कर मोहल्लों और गलियों में स्थापित किराना दुकानों को भी खोलने की अनुमति देने पर विचार किया जा रहा है।
कलेक्टर श्री सिंह ने यह भी स्पष्ट किया कि ग्रामीण क्षेत्रों में दुकानों को खोलने का निर्णय भी लिया गया है। इसके साथ ही ग्रामीण क्षेत्र में विकास कार्य तथा शहरी क्षेत्र में भी शासकीय विकास कार्यों की शुरूआत की गई है।

कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने वीडियो कॉन्फ्रेंस में यह भी स्पष्ट किया कि ग्रामीण क्षेत्रों में जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी एवं नगरीय क्षेत्र में नगर पालिका अधिकारियों के माध्यम से अन्य जिलों एवं प्रदेशों में जिले के जो श्रमिक एवं अन्य लोग लॉकडाउन के कारण फसे हुए हैं उनकी सूची तैयार की जा रही है। जनप्रतिनिधि भी उनकी जानकारी में जो लोग हैं उनकी सूची प्रदान करें ताकि ऐसे लोगों को वापस लाने के लिये रणनीति बनाकर कार्रवाई की जा सके।
वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से चर्चा के दौरान क्षेत्रीय सांसद श्री विवेक नारायण शेजवलकर ने सुझाव दिया कि ग्वालियर जिले के जो निवासी अन्य प्रदेशों में लॉकडाउन के कारण रूके हुए हैं उन्हें वापस लाने के लिये कार्ययोजना बनाकर कार्रवाई की जाना चाहिए। इसके साथ ही थोक विक्रेताओं को भी अपनी सामग्री खेरीज विक्रेताओं तक पहुँचाने की अनुमति दी जाना चाहिए। राशन की उपलब्धता और आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता सुनिश्चित हो, इस दिशा में भी गंभीरता से विचार किया जाना चाहिए। सांसद श्री शेजवलकर ने यह भी कहा कि नोवेल कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकना हम सबकी पहली प्राथमिकता है। इस बात को भी हम सबको ध्यान में रखना आवश्यक है। ऐसी कोई अनुमति नहीं दी जाना चाहिए, जिसके कारण संक्रमण फैल सके।
पूर्व मंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने भी सुझाव दिया कि लॉकडाउन के कारण किसी भी व्यक्ति को खाने-पीने की परेशानी नहीं होना चाहिए। हर जरूरतमंद को राशन उपलब्ध हो, यह हम सबकी जवाबदारी है। उन्होंने यह भी कहा कि नोवेल कोरोना वायरस के संक्रमण के समय निजी चिकित्सालय भी अपनी सेवायें अन्य बीमारियों के लिये दें। आम जन चिकित्सीय सेवाओ के लिये परेशान न हों, इसके लिये निजी चिकित्सक अपनी सेवायें निरंतर देते रहें।
पूर्व विधायक श्री मुन्नालाल गोयल ने आग्रह किया कि ग्वालियर पूर्व विधानसभा क्षेत्र के कई किसान अपनी उपज के विक्रय हेतु अनाज मंडी में ले जाने की मांग कर रहे हैं। प्रशासन को इस दिशा में भी किसानों के हित में निर्णय लेना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि स्वच्छता अभियान के तहत जिस तरह नगर निगम ग्वालियर ने स्वच्छता का कार्य किया था। उसी तर्ज पर स्वच्छता का कार्य भी सम्पूर्ण क्षेत्र में किया जाना चाहिए। सभी नालों और नालियों की सफाई का अभियान निगम चलाए, इसकी भी जरूरत है। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में पूर्व विधायक श्री रमेश अग्रवाल एवं भाजपा जिला अध्यक्ष श्री देवेश शर्मा ने भी महत्वपूर्ण सुझाव दिए।
पुलिस अधीक्षक श्री नवनीत भसीन ने भी नोवेल कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिये पुलिस विभाग की ओर से किए जा रहे प्रबंधनों के संबंध में जानकारी दी। नगर निगम आयुक्त श्री संदीप माकिन ने वीडियो कॉन्फ्रेंस में बताया कि नगर निगम के माध्यम से शहर के सभी नालों की सफाई का कार्य शीघ्र प्रारंभ किया जायेगा। इसके साथ ही स्वच्छता अभियान के तहत नालियों और छोटे-छोटे नालों को साफ करने का कार्य प्रारंभ कर दिया गया है।
क्र््

Leave a Reply