Thursday, October 29, 2020
अपराधताज़ातरीनराजनीतिराज्य

भाजयुमो जिलाध्यक्ष के साले ने महिला को मारी गोली,मौत

 

एटा। मौत मृतक महिला जामवंती घर की अकेली मालकिन थी और उसके आगे पीछे कोई नहीं था. वह अपने घर में अकेली रहती थी. दिव्यांग आरोपी मोनू की नजर महिला के उस मकान पर थी जिसे वह हड़पना चाहता था.
यूपी के जनपद कासगंज में लॉकडाउन के दौरान एक दिव्यांग व्यक्ति ने मकान हड़पने की नीयत से एक महिला को गोली मार दी. घायल महिला को हॉस्पिटल ले जाते समय रास्ते में ही उसकी मौत हो गई. आरोपी ने जिस वक्त इस घटना को अंजाम दिया, उसी वक्त एक व्यक्ति ने इसका वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया. इस आधार पर पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. हत्यारोपी का नाम मोनू है जो बीजेपी के युवा विंग के जिलाध्यक्ष का साला है.  इस घटना के बाद पूरे इलाके में हड़कंप मच गया. पुलिस ने उन लोगों की तलाश भी की है जो इस अपराध में हत्यारोपी के साथ शामिल थे. पुलिस ने इस सिलसिले में एक अन्य व्यक्ति को गिरफ्तार किया है जिसने हत्या के आरोपी को शरण दी थी. बताया जाता है कि मृतक महिला जामवंती घर की अकेली मालकिन थी और उसके आगे-पीछे कोई नहीं था. वह अपने घर में अकेली रहती थी. दिव्यांग आरोपी मोनू की नजर महिला के उस मकान पर थी, जिसे वह हड़पना चाहता था. उसने वृद्ध महिला को उस समय गोली मार दी जब वह अपने घर के सामने बैठी थी. आरोपी मोनू उस महिला के मकान पर कब्जा करना चाहता था जिसका वह विरोध करती थी. हत्यारोपी अब हवालात में है. पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर कानूनी कार्रवाई शुरू कर दी है.  
वारदात के बारे में कासगंज के एएसपी पवित्र मोहन त्रिपाठी ने कहा, थाना सोरों में ग्राम होदलपुर पड़ता है, जहां जामवंती नाम की महिला रहती थी. उसकी उम्र लगभग 60 वर्ष है. मोनू नाम के व्यक्ति ने गोली मार कर उसकी हत्या कर दी. दिव्यांग मोनू के दोनों पैर खराब हैं. उसको गिरफ्तार किया जा चुका है. मोनू को जो शरण देने वाला है, उसको भी गिरफ्तार किया जा चुका है. इसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा रही है.

Leave a Reply