Thursday, October 22, 2020
ताज़ातरीनदेशराजनीतिराज्य

भाजपा के सिंधिया और कांग्रेस के विधायक ने भी जलाये मोदी के कहने पर दीपक 

 

ग्वालियर। पूरे देश ने आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कहने पर अपने – अपने दरवाजे पर खड़े होकर दीपक ,मोमबत्तियां और मोबाइल की टोर्च जलाकर रोशन किया।  अप्रेल में देश में एक बार फिर दीवाली का अहसास हो गया।
कोरोना से लड़ रहे देश से मोदी ने अपील की थी कि सारे देशवासी रविवार को अपने घरों में पहले तो लाइटें बंद करें और फिर खड़े होकर दीपक,मोमबत्तियां या फिर मोबाइल से लाइट जलाकर कोरोना के खिलाफ लड़ने में एकजुटता का परिचय दें। हालाँकि इस आह्वान पर राजनीतिक दलों की प्रतिक्रिया मिश्रित ही थी बावजूद इसके देश भर में आज मुंडेर और दरवाजे दीपक की रौशनी से नहाते नज़र आये.
कहने को तो देश के सभी मंत्रियों से लेकर अमिताभ बच्चन तक के घरों पर दिए लगाए गए।  सोशल मीडिया पर फोटो की बाढ़ आ गयी लेकिन  दो फोटो रहे।
पहला फोटो ताज़ा – ताज़ा भाजपाई बने पूर्व मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया का है। इसमें वे पहली बार हलकी दाढ़ी में दिख रहे है और थाली में  दीपक अपने दरवाजे पर लगा रहे है।  इससे पहले वे पीएम के आह्वान पर  ताली बजाते हुए भी नज़र आये थे। और आज वे दीपक लगाते हुए नज़र आये और उन्होंने इसका फोटो भी सोशल मीडिया पर शेयर किया। कांग्रेस में सेलेब्रिटी के तौर पर नज़र आने वाले सिंधिया अब भाजपा के आम नेताओं की तरह उनके रंग -ढंग में रंगते नज़र आने लगे हैं।
दूरा चर्चित फोटो रहा कांग्रेस के एक विधायक का दीपक जलाने वाला।  यह विधायक है ग्वालियर दक्षिण से विधायक प्रवीण पाठक। प्रवीण पाठक संभाग के उन गिने चुने विधायकों में से एक है जो सिंधिया के साथ पार्टी छोड़कर भाजपा में नहीं गए। उन्होंने पहले ही घोषणा कर दी थी कि वे लोकतंत्र में विश्वास करते है और लोकतांत्रिक मूल्यों के तहत प्रधानमंत्री का आह्वान सबको मानना चाहिए। मैं भी उनके आह्वान पर दीपक जलाऊंगा। आज उन्होंने अपनी पत्नी के साथ अपने घर के छज्जे पर नौ बजे से नौ मिनिट तक दीपक लगाकर उजाला किया।  उन्होंने इस फोटो को शेयर भी किया और लिखा – अनुरोध है कृपया राजनैतिक ऐनक से न देखें। मेरे और मेरे  राष्ट्र प्रथम है और जीवन के अंतिम क्षण तक रहेगा। ये दीपक राष्ट्र के नाम है। इसके साथ उन्होंने संस्कृत का एक श्लोक  भी लिख है जीका आशय है शुभ करने,ार्ग्य रहने  +,शत्रु की बुद्धि का विनास करने प्रज्जवलित इस दीप  ज्योति को प्रणाम।

Leave a Reply