Saturday, October 31, 2020
अपराधताज़ातरीनराज्य

कलयुगी पिता ने नहर में फेंक कर 3 बच्चों को मौत के घाट उतारा

 

पति पत्नी के बीच रास्ते में उपजा था विवाद पत्नी को भी किया था मारने का प्रयास

भितरवार। ग्वालियर जिले के पुलिस थाना क्षेत्र करहिया के अंतर्गत आने वाले ग्राम मेहगांव और ईटमा के बीच पड़ने वाली हरसी बड़ी नहर मैं एक कलयुगी पिता ने पति पत्नी के बीच उपजे विवाद को लेकर अपने तीन नाबालिग बच्चों को नहर में फेंक दिया जिससे तीनों बच्चों की मौत हो गई वही कलयुगी पति ने इस दौरान पत्नी को भी नहर में डूबा कर मारने का किया प्रयास लेकिन स्थानीय रहवासियों ने पत्नी की चीख-पुकार सुन मौके पर पहुंचे और बचा लिया इस दौरान नहर में फेंके गए 3 बच्चों में से 2 बच्चों के शवों को रहवासियों द्वारा निकाल लिया गया वहीं एक बच्ची का सब नहर में बह गया जिसकी तलाश स्थानीय गोताखोरों द्वारा की जा रही है। वहीं उक्त मामले की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची करहिया पुलिस ने बेसुध पत्नी और दोनों बच्चों को जयारोग्य अस्पताल ग्वालियर भिजवा दिया। और मामले की जांच शुरू कर दी है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार पुलिस थाना चीनोर के अंतर्गत आने वाले ग्राम बनवार निवासी कलयुगी पिता प्रमोद कुशवाह( 30) पुत्र रमेश कुशवाह अपनी पत्नी पूनम कुशवाह( 28) को अपने मायके कोसा गांव से लेकर तीनों बच्चों के साथ गांव बनवार के लिए आ रहा था। तभी बीच रास्ते में पति-पत्नी के बीच कुछ बात को लेकर विवाद हो गया। जिस से उत्तेजित होकर कलयुगी पति ने पुलिस थाना क्षेत्र करहिया के अंतर्गत आने वाले ग्राम मेहगांव और ईटमां के बीच पड़ने वाली हरसी बड़ी नहर मैं पहले अपने तीनों बच्चों मैं सबसे बड़ी बेटी सिमर(6) वर्ष, पुत्र प्रशांत (4) वर्ष सहित एक डेढ़ वर्षीय बच्ची से तीनों बच्चों को नहर के पानी में फेंक दिया। और पत्नी को भी नहर में पटक कर पानी में डूबा कर मारने का प्रयास किया, इस दौरान पत्नी की चीख-पुकार सुन नहर के पास रहने वाले कुछ लोग मौके पर पहुंचे और उन्होंने कल योगी पति से पत्नी को छुड़ाया, और नहर में फेंके गए तीनों बच्चों को निकालने का प्रयास किया जिसमें से प्रशांत और डेढ़ वर्षीय दूधमूई बच्ची के सबको निकाल लिया गया। लेकिन नहर के पानी का बहाव अत्यधिक होने के कारण बड़ी बेटी का शव कहीं बह गया इसके कारण स्थानीय लोग निकालने में असमर्थ रहे। उक्त घटना की स्थानीय रहवासियों द्वारा पुलिस थाना करहिया को सूचना दी गई, सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने अजीत पत्नी एवं दोनों नहर से निकाले गए बच्चों को प्राथमिक उपचार के लिए जयारोग्य अस्पताल ग्वालियर भेज दिया वही। आरोपी कलयुगी पिता को भी मौके से गिरफ्तार कर लिया। वहीं पुलिस प्रशासन की सूचना उपरांत नहर का पानी सिंचाई विभाग द्वारा बंद करा दिया गया । साथ ही स्थानीय गोताखोरों के द्वारा नहर की सर्चिंग कर बड़ी बेटी के शव को ढूंढने का प्रयास देर रात तक जारी रहा।

Leave a Reply