Now Reading
कमलनाथ ने  डीजीपी को तलब कर विधायकों की सुरक्षा पर चर्चा की

कमलनाथ ने  डीजीपी को तलब कर विधायकों की सुरक्षा पर चर्चा की

भोपाल. सीएम हाउस में 2 दिन से कुर्सी बचाने के लिए दांव-पेंच की रणनीति बनाई जा रही है। मंगलवार को दिनभर हलचल के बाद बुधवार सुबह से भी यहां सुरक्षा पहरा सख्त है। मुख्यमंत्री कमलनाथ बागियों को मनाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ना चाह रहे हैं। यह जिम्मेदारी उन्होंने अब दिग्विजय सिंह को जिम्मेदारी सौंपी है। वहीं, मुख्यमंत्री कैबिनेट की बैठक की तैयारी में हैं। कैबिनेट की यह बैठक तीन दिन में दूसरी बार हो रही है। चर्चा है कि मुख्यमंत्री इस बैठक में बड़े फैसले ले सकते हैं। इससे पहले रविवार को कैबिनेट की बैठक में संवैधानिक पदों पर नियुक्तियां और कर्मचारियों के डीए बढ़ाए जाने को लेकर फैसला लिया गया था। सोमवार को कांग्रेस विधायक दल की भी बैठक हुई।

सरकार के सूत्रों की मानें तो आज होने वाली कैबिनेट की बैठक के समय में बदलाव हो सकता है। चूंकि, सरकार के कुछ मंत्री बागियों को मनाने के लिए बेंगलुरु गए हैं। फिलहाल, मुख्यमंत्री सुबह से सीएम हाउस में कुछ विधायकों के साथ बैठक कर रहे हैं। फिलहाल, सरकार कुछ ही देर में सुप्रीम कोर्ट में होने वाली सुनवाई पर नजर रखे है।

डीजीपी विवेक जौहरी मुख्यमंत्री से मुलाकात करने पहुंचे। विधायकों की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर बातचीत होने की उम्मीद जताई जा रही है। आधे घंटे बाद डीजीपी बाहर निकले।

भाजपा नेता सीहोर में रणनीति बना रहे
वहीं, भाजपा नेताओं का कहना है कि पार्टी की अगली रणनीति सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के बाद तय की जाएगी। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, नरोत्तम मिश्रा सीहोर के लिए रवाना हो गए हैं। यहां भाजपा के सभी विधायक एक रिसॉर्ट में ठहरे हैं। भोपाल में शिवराज ने भाजपा आईटी से कहा है कि सिंधिया समर्थकों विधायकों की बात को पुरजोर तरीके से उठाएं। भाजपा अविश्वास प्रस्ताव नहीं लाएगी। कांग्रेस भ्रम पैदा कर रही है। इसका विरोध करें।

View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll To Top