Friday, October 23, 2020
ताज़ातरीनराज्य

होली की मस्ती में सराबोर हुआ बाजार, होलिका दहन होते ही उड़ेगा रंग गुलाल

ग्वालियर। रंगों का पर्व होली हर साल की तरह इस साल भी पूरे धूमधाम के साथ मनाया जाएगा। एैसे में होली के पर्व को लेकर लोगों में खासा उत्साह है बाजार पूरी तरह रंगों से गुलजार हैं और जगह-जगह होलिका दहन की तैयारी हो चुका है रात 8 बजे के बाद होलिका दहन होते ही रंग और गुलाल की मस्ती देखने को मिलेगी होली के पर्व पर किसी तरह का व्यवधान न हो इसके लिए पुलिस ने भी सुरक्षा तैयारी पूरी कर ली है शहर में सबसे बड़ी होली सराफा बाजार में जलाई जाएगी इसके साथ अन्य जगहों पर भी जहंा होलिका दहन होना है वहंा पुलिस ने सुरक्षा इंतजाम कर लिए हैं।

होली के त्योहार पर यदि किसी ने रंग में भंग डाला मतलब माहौल बिगाड़ने का प्रयास किया तो उसकी होली हवालात में मनेगी। क्योंकि होली पर जिले में 1200 जवान व अफसर तैनात किए जा रहे हैं। इसमें थाना पुलिस, पुलिस लाइन, एसएएफ व एसटीएफ के जवान व अफसर शामिल रहेंगे। पुलिस की विशेष नजर हुड़दंग करने वालों और नशे में वाहन चलाने वालों पर रहेगी। एसपी ग्वालियर नवनीत भसीन ने स्पष्ट शब्दों अफसरों को कहा कि सुरक्षा में कहीं कोई चूक नहीं होनी चाहिए।
कोरोना वायरल का भी दिख रहा असरः-
होली के लिए बाजार सजकर तैयार है। लेकिन इस बार की होली में कोरोना वायरस की दहशत मंडरा रही है। जिसका असर ग्वालियर के रंग-पिचकारी बाजार में भी देखने को मिल रहा है। व्यापारियों का कहना है कि पिछले साल के मुकाबले इस बार की होली में रंग, गुलाल व पिचकारियों की बिक्री में कमी आई है। क्योंकि लोग कोरोना के चलते दहशत में हैं। कुछ व्यापारियों का कहना है कि होली के बाजार से इस बार चायनीज रंग पिचकारी समेत अन्य प्रोडक्ट पूरी तरह से गायब हैं। वहीं कुछ व्यापारियों ने इस बात को नकारते हुए कहा कि श्चायनीज रंग-पिचकारियों का स्टॉक ग्वालियर के साथ ही दिल्ली के बड़े कारोबारियों के यहां भरा पड़ा था। जो बाजार में उपलब्ध है। ऐसे में आप जहां देखो वहां चायनीज ही चायनीज प्रोडक्ट नजर आएंगे। हालांकि इन पिचकारियों पर चायनीज लेवल दिखाई नहीं देगा। क्योंकि ये पिचकारी चायना से आए रॉ मटेरियल से भारत में ही असेंबल होती हैं। हालांकि कोई नया चायनीच प्रोडक्ट चीन से आयात बंद होने के वजह से दिखाई नहीं दे रहा है।

Leave a Reply