Now Reading
Yes Bank की शाखाओं के बाहर ग्राहकों की लंबी कतारें, ATM हो गए खाली

Yes Bank की शाखाओं के बाहर ग्राहकों की लंबी कतारें, ATM हो गए खाली

Yes Bank के ग्राहकों के लिए गुरुवार देर शाम बुरी खबर आई कि सरकार ने निजी क्षेत्र के इस बैक पर 30 दिन की अस्थायी रोक लगा दी है। साथ ही खाताधारकों के लिए Withdrawal Limit यानी निकासी की सीमा 50 हजार रुपए तय कर दी है। इसके बाद Yes Bank के ग्राहकों में हड़कंप मच गया। लोग रात में ATM पर पहुंचने लगे और पैसे निकालने की होड़ मच गई। देखते ही देखते ATM खाली हो गए। ग्राहकों का कहना है कि उन्हें Yes Bank या सरकार की ओर से इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई। इस तरह उनके लिए समस्या खड़ी हो गई है। कुछ लोगों का कहना है कि उनकी होली बिगड़ गई है। शुक्रवार सुबह जब बैंक खुले तो बड़ी संख्या में लोग अपने पैसे निकालने के लिए पहुंचे। खासतौर पर मुंबई में बैंक की कई शाखाओं के बाहर लंबी कतारें नजर आईं।

 

 

मुंबई मुख्यालय वाले Yes Bank की स्थापना 2004 में हुई थी। जून, 2019 के अंत तक यह बैंक की पूंजी का आकार 3,71,160 करोड़ रुपए था। Yes Bank अगस्त, 2018 से संकट में है। उस समय रिजर्व बैंक ने कामकाज का संचालन और लोन से जुड़ी खामियों की वजह से यस बैंक के तत्कालीन प्रमुख राणा कपूर को 31 जनवरी, 2019 तक पद छोड़ने को कहा था। उनके उत्तराधिकारी रवनीत गिल के नेतृत्व में बैंक ने दबाव वाली ऐसी संपत्तियों का खुलासा किया है, जिनकी जानकारी समय पर नहीं दी गई थी।

 

यस बैंक को जनवरी- मार्च, 2019 की तिमाही में पहली बार घाटा हुआ था। इस प्राइवेट बैंक ने शुरुआत में दो अरब डॉलर की पूंजी जुटाने की योजना बनाई थी। बाद में बैंक के निदेशक मंडल ने कनाडा के निवेशक एसपीजीपी ग्रुप-इर्विन सिंह ब्रायच के 1.2 अरब डॉलर के निवेश का प्रस्ताव ठुकरा दिया था।

View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll To Top