Wednesday, October 21, 2020
ताज़ातरीनदेश

कथावाचक देवकीनंदन ठाकुर समेत 6 के खिलाफ एससी-एसटी कानून के तहत केस दर्ज

मथुरा. वृन्दावन के भागवत कथावाचक देवकीनन्दन ठाकुर और उनके भाई विजय शर्मा सहित आधा दर्जन लोगों के खिलाफ अनुसूचित जाति से संबंधित व्यक्ति के घर में घुसकर मारपीट करने, जातिसूचक संबोधन करने एवं वहां मौजूद महिला से छेड़छाड़ करने का आरोप लगा है। पीड़ित का आरोप है कि आरोपियों ने उसकी पत्नी के साथ छेड़छाड़ करने साथ ही दोनों के साथ लात-घूसों से मारपीट की। इसके बाद कानूनी कार्रवाई करने पर जान से मारने की धमकी देकर चले गए। पुलिस का कहना है कि मामले की प्राथमिक विवेचना कराई जा रही है जिसके आधार पर कार्यवाही की जाएगी।

 

पीड़ित का आरोप है कि वह एक पत्रकार है और हरियाणा की एक महिला ने इस कथावाचक के भाई पर यौन शोषण का आरोप लगाया था और पीड़ित ने महिला की बाईट ली थी। जिसके बाद जानकारी होने पर गुस्साए कथावाचक और उसके भाइयों ने घर मे घुसकर हद दर्जे के बदसलूकी और पत्नी के साथ छेड़छाड़ की। पीड़ित की ओर से इस मामले में थाना हाइवे में कथावाचक सहित 6 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। रिपोर्ट दर्ज होने के बाद पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

जानकारी के मुताबिक थाना हाइवे क्षेत्र की राधावैली कॉलोनी निवासी पुष्पेंद्र कुमार आर्य द्वारा दर्ज कराई गई एफआईआर में बताया है कि वे एक पत्रकार हैं और 14 दिसम्बर 2019 को हरियाणा निवासी एक महिला ने प्रख्यात कथावाचक देवकीनंदन के भाई श्याम सुंदर पुत्र राजवीर पर यौन शोषण करने का आरोप लगाया। एफआईआर में बताया गया है उक्त महिला ने पुष्पेंद्र कुमार आर्य को इस संबंध में एक बाईट भी दी थी।

आरोप है कि महिला द्वारा लगाए गए आरोपों की जानकारी जब आरोपी पक्ष को हुई तो उन्होंने अपनी छवि धूमिल होने की बात कहकर खबर रोकने के लिए कहा और पीड़ित ने उनकी बात मान ली। आरोप है कि इसके बाद भी आरोपी पक्ष उससे रंजिश मानने लगा। पीड़ित का आरोप है कि 24 फरवरी की रात करीब सवा बजे कथावाचक देवकीनंनद के साथ उनके भाई श्यामसुंदर, गजेंद्र, विजय, अमित और एक अन्य धर्मेंद्र उसके घर मे जबरदस्ती घुस गए और जातिसूचक शब्दों को इस्तेमाल करते हुए गंदी गंदी गालियां दी।

Leave a Reply