Now Reading
शाहीनबाग में धारा 144 लागू, किसी भी तरह के धरना-प्रदर्शन पर रोक

शाहीनबाग में धारा 144 लागू, किसी भी तरह के धरना-प्रदर्शन पर रोक

नई दिल्ली. नागरिक संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ जारी धरने के बीच दिल्ली पुलिस ने रविवार को शाहीनबाग में धारा 144 लागू कर दी। पुलिस ने शाहीनबाग में जगह-जगह बैनर लगाकर लोगों को एकत्रित होने, प्रदर्शन करने से मना किया है। पुलिस ने चेतावनी दी है कि ऐसा करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। सुबह से ही शाहीनबाग के अलावा जाफराबाद, मौजपुर समेत हिंसाग्रस्त इलाकों में पुलिस बल की तैनाती बढ़ा दी गई है। दिल्ली हिंसा मामले में अब तक 167 एफआईआर दर्ज हो चुकी है। इनमें 13 मामले सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट डालने वालों पर दर्ज हुए हैं। दिल्ली पुलिस के मुताबिक, यह संख्या और बढ़ सकती है। फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर पुलिस की नजर बनी हुई है। 36 मामले हथियारों के प्रयोग के लिए भी दर्ज किए गए हैं।

हिंदू सेना के प्रदर्शन के चलते पुलिस सतर्क
शनिवार को दिल्ली हिंसा के खिलाफ हिंदू सेना ने मार्च निकालकर विरोध जताया था। इसमें भाजपा नेता कपिल मिश्रा भी शामिल हुए थे। ऐसे में किसी तरह की अनहोनी को देखते हुए पुलिस ने शाहीनबाग में सीएए के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों की सुरक्षा बढ़ा दी है। वहीं, दिल्ली में अब सबकुछ सामान्य होने लगा है। दुकानदार अपनी दुकानें खोल रहे हैं। नौकरीपेशा वाले लोग घरों से निकलकर अब नौकरी पर जाने लगे हैं। रविवार की सुबह भी बाजारों में चहल-पहल देखने को मिली।

हिंसा प्रभावित लोगों को मुआवजे का एलान
इससे पहले शनिवार को हिंसा प्रभावित क्षेत्र में स्थिति का जायजा लेने के लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अफसरों के साथ समीक्षा बैठक की। इसके बाद केजरीवाल ने मीडिया को बताया कि हिंसाग्रस्त क्षेत्रों में कुल 18 एसडीएम की तैनाती की गई है। सभी एसडीएम एक-एक घर जाकर हालात का जायजा ले रहे हैं। उन्होंने बताया कि वह सभी एसडीएम से पल-पल की रिपोर्ट ले रहे हैं। दिल्ली हिंसा से प्रभावित 69 लोगों ने मुआवजे के लिए आवेदन किया है। सभी को रविवार तक मुआवजे की धनराशि दे दी जाएगी।

View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll To Top