Wednesday, October 28, 2020
ताज़ातरीनराज्य

लक्ष्मण सिंह बड़े भाई दिग्विजय सिंह से पूछें कंप्यूटर बाबा कौन हैं

दमोह। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के छोटे भाई और चांचौड़ा विधायक लक्ष्मण सिंह द्वारा फर्जी बताने को लेकर मप्र नदी न्यास के अध्यक्ष कंप्यूटर बाबा ने दमोह में पलटवार किया है।  कंप्यूटर बाबा ने पत्रकारों से चर्चा में बताया कि कंप्यूटर बाबा कौन है। यह पता लगाने के लिए लक्ष्मण सिंह को अपने बड़े भाई पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह से पूछना चाहिए। क्योंकि वे मुझे अच्छे से जानते हैं। मैं लक्ष्मण सिंह पर टिप्पणी नहीं करना चाहता हूं।

उन्होंने कहा कि वे कैसे हैं और उन्होंने टिप्पणी क्यों की, उनकी बुद्धि का परिचय उन्होंने स्वयं ही दे दिया है। इसलिए अब उन पर बात करने से कोई मतलब नहीं है। प्रदेश में अवैध उत्खनन ज्यादा होने के सवाल पर बाबा ने बताया कि यह शिवराज सरकार के कार्यकाल का नतीजा था। उनके कार्यकाल में भर्राशाही खूब चली। उनके 15 साल का कचरा अब हम लोग समेट रहे हैं। बाबा ने आरोप लगाया कि शिवराज के भाई, भतीजे और परिवार के लोग अवैध उत्खनन में लिप्त रहे हैं।

सबसे ज्यादा रेत का अवैध उत्खनन उनकी विधानसभा बुधनी में मिला है। लेकिन जब से कमलनाथ सरकार आई है, प्रदेश में अवैध उत्खनन रुक रहा है। इसके लिए हम किसी भी स्थिति में नदी के अंदर मशीन नहीं चलने देंगे। जो रेत नीति बनी है, उसी हिसाब से रेत निकालना होगी। उन्होंने बताया कि उनका काम अवैध रेत निकालने से रोकना है। कई बार अवैध उत्खनन करने वालों को मौके पर पकड़ भी लेते हैं।

बाबा ने बताया कि रेत से अवैध रेत का उत्खनन रोका जाना है यह लक्ष्य बनाया है। हम नदी के दोनों ओर पेड़ और पौधे लगाने को लेकर काम करेंगे। हमने अधिकारियों और गुंडों को आगाह कर दिया है कि शिवराज सरकार खत्म हो गई है। अब ऐसा नहीं चलेगा। जो ऐसा करेंगे, उन्हें सबक सिखाया जाएगा। इसी तरह बाबा ने बताया कि कई शहरों में नदियां दूषित हो रही हैं, ऐसी नदियों को बचाने के लिए काम करने की जरूरत है।

Leave a Reply