Tuesday, October 27, 2020
ताज़ातरीनराज्य

महाशिवरात्रि: भोले के जयकारों से गूंजे शिवालय

अचलेश्वर , कोटेश्वर, गुप्तेश्वर सहित सभी षिव मंदिरों में उमड़ी भीड़
ग्वालियर। महाशिवरात्रि के पर्व पर शहर के सभी शिवमंदिरों में आस्था और भक्ति का संगम देखने को मिल रहा है अचलेष्वर, गुप्तेष्वर, कोटेष्वर सहित सभी छोटे-बड़े षिव मंदिरों में भक्तों का हुजूम देखने को मिल रहा है यहंा भक्तों के लिए प्रसादी वितरण की व्यवस्था तो की ही गई है साथ ही सुरक्षा के भी कड़े इंतजाम पुलिस प्रशासन द्वारा किए गए है इसके साथ ही जिन रास्तों पर षिव मंदिर पड़ रहे है। उन पर ट्रेफिक डायवर्ट किया गया है।
महाशिवरात्रि के अवसर पर अचलेश्वर महादेव में अचलनाथ महाराज के दर्शन करने के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालु देर रात से ही आना शुरू हो गए। बड़ी संख्या में भगवान भोलेनाथ के भक्त कतारबद्ध होकर दर्शन करते देखे जा रहे हैं। जिनमें सभी सभी वर्गों के लोग शामिल हैं। खास बात यह है कि इन दिनों मंदिर को भव्य स्वरूप दिए जाने के लिए इसका जीर्णोद्वार कराया जा रहा है। बाबजूद इसके अचलेश्वर मंदिर प्रबंधन ने मंदिर की आकर्षक साज-सज्जा की है। रंगबिरंगी रोशनी में देर रात से ही सराबोर हो रहा है।
सुरक्षा के विशेष इंतजाम-
वहीं भक्तों की भारी भीड़ उमड़ने के मद्देनजर पुलिस ने सुरक्षा के विशेष इंतजाम किए हैं। इंदरगंज से सनातन धर्म मंदिर की ओर, अचलेश्वर तिराहे और रोशनीघर से मंदिर की और आने वाला यातायात डायवर्ट कर दिया गया है। श्रद्धालुओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए प्रशासन ने बड़ी तादात में पुलिस बल की तैनाती की है, जिनमें महिला पुलिसकर्मी भी शामिल हैं। मंदिर के आस-पास सीसीटीव्ही कैमरे लगाए गए हैं। इस बार बुजुर्गों और दिव्यांगों को परेशान नहीं होना पड़ेगा। बुजुर्ग एवं दिव्यांग सीधे मंदिर में आ सकते हैं। वाहनों के लिए पार्किंग की व्यवस्था आशीर्वाद वाटिका, उत्सव वाटिका, परिणय वाटिका और एमएलबी कॉलेज में रहेगी।
इससे पहले पुलिस प्रशासन की टीम ने अचलेश्वर मंदिर का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। महाशिवरात्रि पर डेढ़ लाख भक्तों के अचलनाथ के दर्शन करने के लिए पहुंचने का अनुमान है। महाशिवरात्रि पर्व पर शहर के अन्य शिवालयों पर भी विशेष व्यवस्था की गई है। अचलेश्वर मंदिर, कोटेश्वर मंदिर और गुप्तेश्वर मंदिर मार्ग पर भारी वाहनों का प्रवेश रात 11 बजे से रोक दिया गया है। बम-बम भोले के जयकारों के बीच भक्तों का शिवालय पहुचनेे का सिलसिला रविवार रात 12 बजे से ही शुरू हो गया है।

Leave a Reply