Now Reading
सिंधी समाज ने  खुले रूप से महिलाओं के नृत्य करने पर लगाई रोक

सिंधी समाज ने  खुले रूप से महिलाओं के नृत्य करने पर लगाई रोक

खंडवा. वैवाहिक कार्यक्रम के दौरान बारात में या अन्य किसी भी शुभ कार्य के दौरान सड़क पर अथवा खुले रूप से महिलाओं द्वारा किए जाने वाले नृत्य पर खंडवा के सिंधी समाज ने रोक लगा दी है। सिंधी समाज ने सर्वेक्षण के बाद बहुमत के आधार पर यह निर्णय पारित किए जाने की बात कही है। इसके साथ ही प्री-वेडिंग शूटिंग पर भी प्रतिबंध लगाया गया है।

श्री पूज्य सिंधी पंचायत सिंधी कॉलोनी एवं पदम नगर की संयुक्त बैठक में सर्वेक्षण के बाद बहुमत के आधार पर कुरीतियों के विरोध में कई निर्णय पारित किए जाने की बात बताई गई। पंचायत के प्रवक्ता कमल नागपाल ने बताया कि पिछले दिनों समाज के पदाधिकारियों एवं गणमान्यजन की उपस्थिति में समाजहित में कई निर्णय लिए गए। सिंधी समाज ने पहली बार समाजहित के इन निर्णय को पारित करने से पूर्व डोर टू डोर सर्वेक्षण कर समाजजनों से लिखित में राय मांगी। लगभग 1000 सहमति पत्र संग्रह होने के बाद इन पत्रों की विवेचना की गई।

सर्वसम्मति से समाज के पदाधिकारियों ने यह पारित किया कि अब वैवाहिक कार्यक्रम के दौरान बारात में या अन्य किसी भी शुभ कार्य के दौरान सड़क पर अथवा खुले रूप से महिलाओं के द्वारा नृत्य नहीं किया जाएगा। वैवाहिक कार्यक्रम के दौरान बारात के शुभ कार्य स्थल पहुंचने पर वर पक्ष के द्वारा वर को घोड़ी या कार से नीचे उतरने पर एवं वधू पक्ष के द्वारा वर के जूते छुपाने छुपाकर शगुन के नाम पर कोई भी मांग करने पर भी प्रतिबंध लगाया गया है।

इसके साथ ही वैवाहिक कार्यक्रमों के के पहले वर-वधू द्वारा प्री वेडिंग शूटिंग करवाने और उसे कार्यक्रम के दिन खुले रूप से स्क्रीन पर दिखाने पर प्रतिबंध लगाया गया है। वहीं  वैवाहिक कार्यक्रम के दौरान बारात के समय बीच राह में शराब पर पूर्ण प्रतिबंध लगाया गया है।

View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll To Top